गृह मंत्रालय को सौंपी खुफिया रिपोर्ट, प्री-प्लान थी CAA पर हिंसा

नई द‍िल्ली। गृह मंत्रालय को दी गई इस शुरुआती रिपोर्ट में कई खुलासे हुए हैं, जिसमें हिंसा फैलाना प्री-प्लान था, इसके साथ ही जांच एजेंसियां इस हिंसा में विदेशी हाथ होने की भी जांच कर रही हैं। देश भर में नागरिकता कानून को लेकर जारी हिंसा को लेकर खुफिया एजेंसियों ने एक अहम रिपोर्ट गृह मंत्रालय को सौंपी है।

इसके तहत देश भर में जारी प्रदर्शन और हिंसा के पीछे कुछ राजनीतिक संगठनों के अलावा कट्टरपंथी संगठनों का हाथ है। रिपोर्ट में बताया गया है कि ये संगठन दिल्ली ,बंगाल ,असम ,यूपी ,केरल,पंजाब ,राजस्थान आदि राज्यों में ज्यादा सक्रिय हैं।

रिपोर्ट में PFI और SIMI जैसे संगठनों को जिम्मेदार माना गया

Intelligence report submitted to home ministry, pre-plan violence on CAA, hand of some political parties and fundamentalist organizations
Intelligence report submitted to home ministry, pre-plan violence on CAA, hand of some political parties and fundamentalist organizations

खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट में PFI और SIMI जैसे संगठनों को जिम्मेदार माना गया है। रिपोर्ट में बताया गया है कि नागरिकता संशोधन कानून के लागू होने के बाद हुई हिंसा के पीछे इन्हीं संगठनों का हाथ है। ये संगठन कानून व्यवस्था की स्थिति खराब कर कानून के खिलाफ माहौल बनाने की कोशिश कर रहे हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक पीएफआई ने अपने महिला विंग और छात्र विंग को सक्रिय कर दिया है। वहीं कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया को जगह जगह प्रदर्शन कराने का निर्देश दिए गए हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि पीएफआई इस काम में सोशल मीडिया को प्रमुख हथियार बना रहा है। खुफिया ब्यूरो की रिपोर्ट के बाद ही गृह मंत्रालय ने राज्यों को एडवाइजरी जारी की थी। गृह मंत्रालय ने राज्यों को सोशल मीडिया के सहारे अफवाहों के प्रचार प्रसार पर विशेष नजर रखने का निर्देश दिया है।

गृह मंत्रालय को मिली शुरुआती रिपोर्ट में क्या

गृह मंत्रालय के सूत्रों की मानें तो, दिल्ली पुलिस के द्वारा जो शुरुआती रिपोर्ट सामने आई है उसमें एंटी सोशल एलिमेंट के रोल की जांच की जा रही है. रिपोर्ट के मुताबिक, जो लोग यूनिवर्सिटी के किसी कोर्स का हिस्सा नहीं थे, वो भी इस प्रदर्शन में मुखर रूप से शामिल रहे.

अभी तक जो जांच हुई है, उसमें ऐसे करीब 40-50 लोगों की पहचान हो गई है. दिल्ली पुलिस और अन्य एजेंसियां इन 40-50 लोगों का प्रदर्शन में क्या रोल रहा है, उसकी जांच कर रही है.
-एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *