उद्योगपति गौतम अडानी ने ग्रीन एनर्जी के फील्ड में बड़ा दांव खेला

दिग्गज उद्योगपति गौतम अडानी ने ग्रीन एनर्जी के फील्ड में बड़ा दांव खेला है। उनकी कंपनी अडानी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड ने एसबी एनर्जी होल्डिंग्स लिमिटेड की खरीदने की प्रक्रिया पूरी कर ली है। 3.5 अरब डॉलर (26,000 करोड़ रुपये) का यह सौदा पूरी तरह कैश में हुआ है। इसके लिए दोनों कंपनियों ने 18 मई 2021 को एग्रीमेंट किया था। यह भारत के रिन्यूएबल सेक्टर के इतिहास में सबसे बड़ी डील है।
SB Energy India अब पूरी तरह अडानी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड की हो गई है। इससे पहले एसबी एनर्जी में सॉफ्टबैंक ग्रुप और भारती ग्रुप की क्रमशः 80 फीसदी और 20 फीसदी हिस्सेदारी थी। इससे पहले एसबी एनर्जी की CPPIB से बातचीत चल रही थी लेकिन इवेल्यूएशन पर मतभेदों के कारण यह टूट गई थी। इसके बाद अडानी ग्रीन एनर्जी के साथ उसकी बातचीत तेज हुई थी।
क्या फायदा होगा
पिछले हफ्ते अडानी ने घोषणा की थी कि उनका ग्रुप अगले 10 वर्षों के दौरान रिन्यूएबल एनर्जी जेनरेशन के क्षेत्र में 20 अरब डॉलर से ज्यादा निवेश करेगा। एजीईएल के एमडी और सीईओ विनीत एस जैन ने कहा कि इस डील से हम रिन्यूएबल्स में ग्लोबल लीडर बनने के करीब पहुंच गए हैं। इस डील से साबित होता है कि हम कार्बन मुक्त भविष्य के लिए कितने गंभीर हैं। इससे कई सेक्टरों में रोजगार पैदा होंगे। इस अधिग्रहण से अडानी ग्रीन की क्षमता में 5 गीगावाट का इजाफा होगा। कंपनी के पोर्टफोलियो में सोलर, विंड और सोलर-विंड हाइब्रिड प्रोजेक्ट शामिल हैं। इनमें से 1,700 मेगावॉट की परियोजनाएं ऑपरेशनल हैं जबकि बाकी पर काम चल रहा है। इससे एजीईएल कुल पोर्टफोलियो बढ़कर 19.8 गीगावाट हो गया है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *