तोक्यो ओलिंपिक के टॉप-4 में जगह बना सकती है भारतीय महिला हॉकी टीम

नई दिल्‍ली। पूर्व हॉकी खिलाड़ी दीपिका ठाकुर का मानना है कि अच्छा खेल दिखाने की प्रतिबद्धता और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर लगातार मैच खेलने से भारतीय महिला हॉकी टीम के प्रदर्शन में काफी सुधार हुआ है। उन्होंने साथ ही उम्मीद जताई कि टीम अगले साल होने वाले तोक्यो ओलिंपिक गेम्स में टॉप-4 में जगह बना सकती है।
भारतीय महिला हॉकी ने पिछले कुछ वर्षों में शीर्ष टूर्नामेंट्स में अच्छे परिणाम हासिल किए हैं। उसने 2018 एशियाई खेलों में रजत पदक जीता और लगातार दूसरी बार ओलिंपिक के लिए क्वॉलिफाइ किया।
दीपिका ने कहा, ‘महिला टीम यह साबित करने के लिये प्रतिबद्ध है कि वह भी पुरुष टीम की तरह टूर्नामेंट जीत सकती है। हमने 2017 में एशिया कप जीता, लंदन में विश्व कप के क्वॉर्टर फाइनल में जगह बनाई और एशियाई खेलों में सिल्वर मेडल हासिल किया।’
उन्होंने कहा, ‘ये सभी बहुत अच्छे परिणाम हैं। यह कोचिंग स्टाफ और महासंघ के सामूहिक प्रयास से ही संभव हो पाया। हॉकी इंडिया ने यह सुनिश्चित किया कि महिला हॉकी टीम को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अधिक मैच खेलने को मिलें तथा एसीटीसी (अभ्यास और प्रतियोगिता के लिए वार्षिक कैलेंडर) टीम के लिए अहम साबित हुआ।’
रियो ओलिंपिक में भारतीय टीम का हिस्सा रही दीपिका ने 2016 में एशियाई चैंपियंस ट्रोफी को जीतने में अहम योगदान दिया था। उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताएं बहाल होने पर भारतीय टीम अच्छी वापसी कर सकती है।
उन्होंने कहा, ‘विश्वास है कि टीम वापसी कर सकती है। टीम पिछले साल लगातार दो टूर्नमेंट जीतकर शानदार लय में है और उसने इस साल के शुरू में न्यूजीलैंड में भी अच्छा प्रदर्शन किया। टीम शीर्ष स्तर पर सफलता की भूखी है और इसलिए मुझे पूरा विश्वास है कि प्रतियोगिताएं शुरू होंगी तो वह वापसी करेगी। टीम तोक्यो ओलिंपिक में शीर्ष चार में जगह बनाने का माद्दा रखती है।’
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *