सर्वश्रेष्ठ है कोहली के नेतृत्‍व वाली भारतीय टीम: सुनील गावस्कर

नई दिल्‍ली। अपने जमाने के दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने विराट कोहली की अगुवाई वाली वर्तमान टीम को भारत की अब तक की सर्वश्रेष्ठ टेस्ट टीम करार दिया है। उन्होंने कहा कि बेहतरीन गेंदबाजी आक्रमण के कारण यह पूर्व की टीमों की तुलना में अधिक संतुलित बन गई है। कोहली की कप्तानी में भारत आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंचा तथा टीम अभी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप तालिका में पहले स्थान पर है।
इस टीम ने 2018-19 में ऑस्ट्रेलिया को उसकी सरजमीं पर हराया था और ऐसा कारनामा करने वाली वह पहली भारतीय टीम ही नहीं बल्कि पहली एशियाई टीम भी बनी। गावस्कर ने इंडिया टुडे ईकॉन्क्लेव में कहा, ‘मेरा मानना है कि वर्तमान टेस्ट टीम संतुलन के मामले में, क्षमता के मामले में, कौशल के मामले में और जज्बे के मामले में अब तक की सर्वश्रेष्ठ भारतीय टीम है। मैं इससे बेहतर भारतीय टेस्ट टीम के बारे में नहीं सोच सकता।’
गावस्कर ने कहा कि वर्तमान टीम की विशेषता उसका विविधतापूर्ण गेंदबाजी आक्रमण है, जो किसी भी तरह की पिच और परिस्थितियों में मैच जीत सकता है। इस पूर्व कप्तान ने कहा, ‘इस टीम के पास ऐसा आक्रमण है जो किसी भी तरह की पिच पर मैच जीत सकता है। इसको परिस्थितियों की मदद की जरूरत नहीं है। परिस्थितियां कैसी भी हों वे किसी भी विकेट पर मैच जीत सकते हैं। बल्लेबाजी के मामले में 1980 के दशक की टीमें भी काफी हद तक ऐसी ही थी लेकिन उनके पास वैसे गेंदबाज नहीं थे जिसे विराट के पास हैं।’
भारत के विश्वस्तरीय गेंदबाजों के बारे में गावस्कर ने कहा, ‘निश्चिततौर पर भारत के पास आज विविधतापूर्ण गेंदबाजी आक्रमण है जो बेहद जरूरी थी। कहा भी जाता है कि अगर आप 20 विकेट नहीं ले सकते हो तो मैच नहीं जीत सकते। हमने ऑस्ट्रेलिया में 20 विकेट लेने के लायक गेंदबाजी की।’
भारत के पास हमेशा अच्छे बल्लेबाज और स्पिनर रहे हैं लेकिन अभी उसके पास जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, इशांत शर्मा, उमेश यादव और भुवनेश्वर कुमार जैसे तेज गेंदबाज हैं, जिससे वह हाल के वर्षों में दुनिया की शीर्ष टीम बन गई। भारत की तरफ से 1971 से 1987 के बीच 125 टेस्ट मैचों में 10122 रन बनाने वाले गावस्कर ने बल्लेबाजी के मामले में कहा कि वर्तमान भारतीय टेस्ट टीम ऑस्ट्रेलिया जैसी टीमों से अधिक स्कोर बना सकती है, जो अभी आईसीसी टेस्ट टीम रैंकिंग में शीर्ष पर है।
उन्होंने कहा, ‘आपको रन भी बनाने होते हैं। हमने 2018 में इंग्लैंड में देखा। हमने 2017 में दक्षिण अफ्रीकी दौरे में देखा। हमने हर बार 20 विकेट लिए लेकिन हम पर्याप्त रन नहीं बना पाए लेकिन अब मुझे लगता है कि हमारे पास ऐसे बल्लेबाज हैं, जो ऑस्ट्रेलियाई टीम की तुलना में अधिक रन बना सकते हैं।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *