भारतीय सेना किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार: रक्षा मंत्री

नई दिल्ली। सिक्किम सेक्टर के पास डोकलाम इलाके में भारत और चीन के बीच चल रहे गतिरोध के बीच रक्षा मंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को लोकसभा में कहा कि भारतीय सेना किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है। डोकलाम में गतिरोध के बीच चीन द्वारा तिब्बत में सैनिकों की गतिविधियां की रिपोर्ट और पाकिस्तान के एक सैन्य अधिकारी द्वारा अपने रक्षा उद्योग को भारत से बेहतर बताए जाने को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में जेटली ने कहा कि भारतीय सैन्य बल किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं।
रक्षा मंत्री जेटली कहा, ‘हमारे सैन्य बल सैन्य बल किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं।’ रक्षा मंत्री ने यह भी कहा देश के रक्षा बलों के पास किसी भी स्थिति निपटने के लिए पर्याप्त उपकरण उपलब्ध हैं और इसको लेकर किसी तरह का संदेह नहीं होना चाहिए। बता दें कि डोकलाम में पूरा विवाद सड़क निर्माण को लेकर शुरू हुआ था। डोकलाम इलाके में चीनी सेना द्वारा सड़क निर्माण का भारत ने कड़ा विरोध किया था। भारतीय सेना ने उस इलाके में चीनी सेना के निर्माण कार्य को रोक दिया था। 16 जून को हुई इस घटना के बाद दोनों देशों के बीच तल्खी का माहौल है। चीन भारत से डोकलाम से लगातार सेना हटाने की मांग कर रहा है। पेइचिंग का कहना है कि सेना हटाने के बाद ही दोनों पक्षों के बीच कोई बातचीत होगी।
डोकलाम में सड़क बनाने का भूटान ने भी विरोध किया था भूटान ने इसे अपना क्षेत्र बताते हुए चीन पर यथास्थितिवाद का उल्लंघन का आरोप लगाया। बता दें कि चीन और भारत की 3,488 किलोमीटर लंबी सीमा में से करीब 220 किलोमीटर सीमा सिक्किम से होकर गुजरती है।
-एजेंसी