IAF ने AFCAT के लिए के लिए शॉर्ट नोटिफिकेशन जारी किया

इंडियन एयरफोर्स IAF ने एयर फोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट AFCAT 2022 के लिए शॉर्ट नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। एयरफोर्स में भर्ती के इच्छुक उम्मीदवार 1 जून 2022 से आवेदन कर पाएंगे। आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों को careerindianairforce.cdac.in या afcat.cdac.in पर विजिट करना होगा। इस परीक्षा के माध्यम से इंडियन एयरफोर्स में फ्लाइंग ब्रांच और ग्राउंड ड्यूटी विभागों में भर्ती की जाएगी। साथ ही मेट्रोलॉजी ब्रांच में मेट्रोलॉजी एंट्री और फ्लाइंग ब्रांच में एनसीसी स्पेशल एंट्री के लिए भी भर्तियां होंगी।
वैकेंसी डिटेल
फ्लाइंग ऑफिसर: आवेदन करने के लिए उम्मीदवार की उम्र 20 वर्ष से 24 वर्ष के बीच होनी चाहिए। उम्मीदवार का जन्म 02 जुलाई 1999 से 01 जुलाई 2003 के बीच हुआ हो यानी उम्र की गिनती 1 जुलाई 2023 से होगी।
ग्राउंड ड्यूटी: आवेदन करते समय उम्मीदवार की उम्र 20 वर्ण से 26 वर्ष होनी चाहिए। यानी आवेदक का जन्म 02 जुलाई 1997 से 01 जुलाई 2003 के बीच हुआ हो।
सेलेक्शन: एफकैट 2022 की परीक्षा ऑनलाइन मोड में होगी। साथ ही ग्राउंड ड्यूटी विभाग के लिए उम्मीदवार को इंजीनियरिंग नॉलेज टेस्ट के लिए भी बैठना होगा। चयनित उम्मीदवारों की फाइनल मेरिट AFCAT और AFSB के परफॉर्मेंस के आधार पर बनाई जाएगी।
परीक्षा पैटर्न: एयर फोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट का पेपर 300 अंको का होगा जिसमें 100 प्रश्न पूछे जाएंगे। ये प्रश्न जनरल अवेयरनेस, वर्बल एबिलिटी इन इंग्लिश, न्यूमेरिकल एबिलिटी, रीजनिंग, मिलिट्री एप्टीट्यूड जैसे विषयों से होंगे। परीक्षा के लिए उम्मीदवारों को 2 घंटे 45 मिनट का समय दिया जाएगा।
एप्लीकेशन फीस: आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों को 250 रुपये एप्लीकेशन फीस के रूप में देना होगा। एनसीसी स्पेशल एंट्री और मेट्रोलॉजी एंट्री के लिए कोई आवेदन शुल्क नहीं देना होगा।
शैक्षिक योग्यता: फ्लाइंग ब्रांच उम्मीदवार को 50 फीसदी मार्क्स के साथ 12वीं पास, 12वीं में मैथ्स व फिजिक्स विषय होना जरूरी है। साथ ही किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी विषय में 60 फीसदी अंको के साथ ग्रेजुएशन होना आवश्यक है। या इसके अलावा उम्मीदवार के 60 फीसदी अंको के साथ बीई/बीटेक की डिग्री होना आवश्यक है।
ग्राउंड ड्यूटी (टेक्निकल) ब्रांच: आवेदक के पास 50 फीसदी मार्क्स के साथ 12वीं पास, 12वीं में मैथ्स व फिजिक्स विषय होना आवश्यक है और साथ ही इंजीनियरिंग में चार वर्षीय डिग्री/इंटीग्रेटेड पोस्ट ग्रेजुएशन होना चाहिए।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *