भारतीय वायुसेना प्रमुख का बयान: हम दो मोर्चों पर भी युद्ध के लिए तैयार

नई दिल्ली। पाकिस्तान से लगातार जारी घुसपैठ और चीन के साथ डोकलाम विवाद को सुलझाने के कुछ समय बाद भारतीय वायुसेना की ओर से बड़ा बयान आया है। वायु सेना प्रमुख बी. एस. धनोआ ने गुरुवार को कहा कि हमारी एयर फोर्स चीन से मुकाबले में पूरी तरह सक्षम हैं, साथ ही हम दो मोर्चों पर भी युद्ध के लिए तैयार हैं।
एयर फोर्स डे से ठीक पहले एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में एयर चीफ मार्शल ने कहा कि हमारी सेना फुल स्पेक्ट्रम ऑपरेशन के लिए तैयार है। आगे उन्होंने यह भी कहा कि आईएएफ को शामिल करते हुए सर्जिकल स्ट्राइक पर कोई भी फैसला सरकार को लेना है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि आईएएफ दो मोर्चों पर जंग की चुनौतियों से निपटने के लिए भी तैयार है।
इससे पहले सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने पिछले महीने कहा था कि देश को दो फ्रंट पर युद्ध के लिए तैयार रहना चाहिए। उन्होंने जोर देकर कहा था कि चीन ने भी अपनी ताकत बढ़ानी शुरू कर दी है। दूसरी तरफ पाकिस्तान के साथ सुलह की कोई उम्मीद नहीं है। पाकिस्तान की सेना और वहां की सरकार भारत को दुश्मन मानकर चलती है। चीफ ऑफ एयर स्टाफ ने बताया कि वायुसेना 2032 तक 42 फाइटर स्क्वॉड्रन की क्षमता हासिल कर लेगी।
-एजेंसी