भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया: सिडनी टेस्‍ट में भारत के चौथे दिन 2 विकेट पर 98 रन

सिडनी। रोहित शर्मा के अर्धशतक के बावजूद ऑस्ट्रेलिया के 407 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत तीसरे क्रिकेट टेस्ट के चौथे दिन रविवार को यहां सिडनी क्रिकेट मैदान पर 98 रन तक दो विकेट गंवाकर मुश्किलों में घिर गया। दिन का खेल खत्म होने पर कप्तान अजिंक्य रहाणे (नाबाद 04) और चेतेश्वर पुजारा (नाबाद 09) क्रीज पर डटे हुए थे।
भारत ने दूसरी पारी में रोहित (98 गेंद में 52, पांच चौके, एक छक्का) और शुभमन गिल (31) के विकेट गंवाए। भारतीय टीम को अंतिम दिन जीत के लिए 309 रन की दरकार है जबकि उसके आठ विकेट शेष हैं। सिडनी की असमान गति वाली पिच पर हालांकि हार से बचना आसान नहीं होगा क्योंकि टीम को दूसरी पारी में चोटिल रविंद्र जडेजा की सेवाएं भी नहीं मिलेंगी जो अच्छी फॉर्म में चल रहे हैं।
ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी के दौरान भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज को एक बार फिर ऑस्ट्रेलियाई प्रशंसकों के अपशब्दों का सामना करना पड़ा जिसके कारण 10 मिनट तक खेल रुका रहा। ऑस्ट्रेलिया ने कैमरन ग्रीन (132 गेंद में 84 रन) के तेजतर्रार अर्धशतक के अलावा स्टीव स्मिथ (167 गेंद में 81 रन) और मार्नस लाबुशेन (118 गेंद में 73 रन) के अर्धशतकों से छह विकेट पर 312 रन बनाने के बाद दूसरी पारी घोषित की। कप्तान टिम पेन ने भी 52 गेंद में नाबाद 39 रन बनाए और ग्रीन के साथ छठे विकेट के लिए 20 से कम ओवरों में 104 रन जोड़े।
भारत को खराब क्षेत्ररक्षण का खामियाजा भी भुगतना पड़ा जब हनुमा विहारी, उप कप्तान रोहित शर्मा और कप्तान अजिंक्य रहाणे ने क्रमश: स्क्वायर लेग, स्लिप और गली में आसान कैच टपकाए। लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत को रोहित और गिल की सलामी जोड़ी ने पहले विकेट के लिए 71 रन जोड़कर सतर्क शुरुआत दिलाई। रोहित को 13 रन के निजी स्कोर पर जोश हेजलवुड की गेंद पर मैदानी अंपायर ने पगबाधा आउट दे दिया था लेकिन बल्लेबाज के डीआरएस लेने पर उन्हें अपना फैसला बदलना पड़ा। टीवी रीप्ले में दिखा कि गेंद विकेटों के ऊपर से जाती।
गिल ने धीमी शुरुआत के बाद पैट कमिंस के ओवर में दो चौके मारे और फिर कैमरन ग्रीन पर चौके के साथ 19वें ओवर में टीम के रनों का अर्धशतक पूरा किया। रोहित ने भी मिशेल स्टार्क पर दो चौके और ग्रीन पर छक्का मारा। हालांकि जब लग रहा था कि दोनों सलामी बल्लेबाज जम चुके हैं तब हेजलवुड की गेंद पर गिल ने विकेटकीपर टिम पेन को कैच थमा दिया। गिल ने डीआरएस का सहारा लिया लेकिन उन्हें पवेलियन लौटना पड़ा। हेजलवुड के इसी ओवर में चेतेश्वर पुजारा को भी मैदानी अंपायर ने पगबाधा आउट दिया लेकिन डीआरएस लेने पर यह फैसला भी बदलना पड़ा।
रोहित ने नाथन लियोन पर चौके के साथ 95 गेंद में अर्धशतक पूरा किया लेकिन अगले ओवर में कमिंस की गेंद को पुल करने की कोशिश में फाइन लेग बाउंड्री पर मिशेल स्टार्क को कैच दे बैठे। रहाणे और पुजारा ने इसके बाद दिन का खेल खत्म होने तक भारत को और झटके नहीं लगे दिए। इससे पहले बल्लेबाजी के लिए मुश्किल हो चुकी पिच पर ग्रीन ने धीमी शुरुआत के बाद स्वच्छंद होकर बल्लेबाजी की। उन्होंने अपनी पारी के आठ चौके और चार छक्के मारे।
रविचंद्रन अश्विन (95 रन पर दो विकेट) ने सफल डीआरएस के बाद स्मिथ को मैच में दूसरा शतक जड़ने से रोका लेकिन कुल मिलाकर इस ऑफ स्पिनर ने अपनी गेंदबाजी से निराश किया। छह फीट सात इंच लंबे ग्रीन ने धीमी शुरुआत के बाद सिराज (90 रन पर एक विकेट) पर छक्के के साथ तेवर दिखाए। उन्होंने इस तेज गेंदबाज के ओवर में इसके बाद दो और छक्के मारे। ग्रीन ने जसप्रीत बुमराह की लगातार गेंदों पर चौका और छक्का जड़ा लेकिन अगली गेंद पर स्थानापन्न विकेटकीपर रिद्धिमान साहा को कैच दे बैठे।
सुबह के सत्र में पदार्पण कर रहे तेज गेंदबाज नवदीप सैनी (54 रन पर दो विकेट) ने दो विकेट चटकाए लेकिन इसके बावजूद ऑस्ट्रेलिया ने दबदबा बनाए रखा। ऑस्ट्रेलिया ने दिन की शुरुआत दो विकेट पर 103 रन से की। लाबुशेन ने सकारात्मक रुख अपनाते हुए स्मिथ के साथ मैच की दूसरी शतकीय साझेदारी (103 रन) की। लाबुशेन हालांकि बुमराह के दिन के पहले ओवर की दूसरी गेंद पर ही पवेलियन लौट जाते लेकिन स्क्वायर लेग पर विहारी ने उनका आसान कैच टपका दिया।
लाबुशेन ने इस समय अपने कल के 47 रन के स्कोर में कोई इजाफा नहीं किया था। ऑस्ट्रेलिया ने सुबह के सत्र में 79 रन जोड़े। सैनी को पिच से अतिरिक्त उछाल मिल रहा था और लाबुशेन उनकी लेग साइड से बाहर जाती गेंद पर बल्ला छुआ बैठे और साहा ने शानदार कैच लपकते हुए उनकी पारी का अंत किया। लाबुशेन ने अपनी पारी में नौ चौके मारे। मैथ्यू वेड ने भी चार रन बनाने के बाद सैनी की गेंद पर साहा को आसान कैच थमाया।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *