भारत ने कहा, Pakistan आतंकवाद के मुद्दे पर दुनिया की आंखों में धूल झोंक रहा है

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि Pakistan आतंकवाद के मुद्दे पर दुनिया की आंखों में धूल झोंक रहा है। वह अब भी आतंकवाद के खिलाफ कार्यवाही नहीं कर रहा।
रवीश कुमार ने कहा कि अगर पाकिस्तान ‘नया Pakistan’ होने का दावा करता है तो उसे आतंकी संगठनों के खिलाफ ‘नया ऐक्शन’ भी लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि Pakistan लगातार झूठ फैलाने का काम कर रहा है जबकि उसे भारत और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की बात मानकर आतंकी संगठनों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करनी चाहिए।
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि Pakistan झूठ फैला रहा है कि उसने हमारे एक नहीं बल्कि दो फाइटर जेट मार गिराए हैं। Pakistan का दावा है कि उसके पास इसकी वीडियो रिकॉर्डिंग भी है। यदि Pakistan के पास ऐसे सबूत हैं तो वह उन्हें मीडिया के सामने क्यों नहीं लाता?
रवीश कुमार ने कहा कि हमारे पास इस बात के पुख्ता सबूत हैं कि उन्होंने भारत के खिलाफ सैन्य कार्यवाही में एफ-16 का इस्तेमाल किया है। कुमार ने बताया कि हमने अमेरिका से कहा है कि वह इस बात की जांच करे कि भारत के खिलाफ एफ-16 का इस्तेमाल कर पाकिस्तान ने नियम और शर्तों का उल्लंघन तो नहीं किया है।
बेनकाब हो रहा पाक का झूठ
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तान का झूठ कई बार बेनकाब हो चुका है। पाकिस्तान की आर्मी के प्रवक्ता ने मीडिया से बातचीत में कहा था कि उनके देश में जैश की मौजूदगी नहीं है, जबकि उनके विदेश मंत्री ने एक इंटरव्यू में कहा था कि उन्होंने जैश की टॉप लीडरशिप से पुलवामा हमले में शामिल होने के बारे में जानकारी मांगी है। जैश ने इसमें हाथ होने से इंकार किया है। रवीश कुमार ने कहा कि क्या पाकिस्तान के विदेश मंत्री जैश-ए-मोहम्मद के प्रवक्ता हो गए हैं।
टकराव पर यह बोले रवीश कुमार
पाकिस्तान के साथ टकराव के मुद्दे पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में रवीश कुमार में कहा था कि भारत की तरफ से डी-ऐस्केलेश का सवाल ही नहीं है, क्योंकि भारत ने कभी ऐस्केलेट ही नहीं किया था। हमारी कार्यवाही पाकिस्तान के खिलाफ नहीं, बल्कि आतंक के खिलाफ थी। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान भारत और अंतर्राष्ट्रीय बिरादरी की चिंताओं को दूर करने के लिए कोई काम नहीं कर रहा है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *