पुरुषों की प्रजनन क्षमता पर अंकुश लगाने वाला दुनिया का पहला इंजेक्‍शन ईजाद करने के करीब भारत

नई दिल्‍ली। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद दुनिया का पहला पुरुषों की प्रजनन क्षमता पर अंकुश लगाने वाला इंजेक्शन ईजाद करने के काफी करीब पहुंच गया है. परिषद ने इस इंजेक्शन का सफलतापूर्वक क्लीनिकल ट्रायल भी कर लिया है. इसकी जानकारी इस ट्रायल में शामिल रहे शोधकर्ताओं ने दी है.
परिषद ने इस पुरुष पुरुषों की प्रजनन क्षमता पर अंकुश लगाने वाले इंजेक्शन को अनुमति के लिए ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ़ इंडिया को भेजा है.
यह इंजेक्शन 13 सालों तक असरदार रहेगा जिसके बाद यह अपनी शक्ति खो देगा. इस इंजेक्शन को सर्जिकल नसबंदी के विकल्प के तौर पर बनाया गया है जो पुरुषों की प्रजनन क्षमता पर अंकुश के लिए दुनिया में इकलौता तरीक़ा है.
इस ट्रायल में शामिल रहे एक वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉक्टर आरएस शर्मा का कहना है कि यह इंजेक्शन पूरी तरह तैयार है, केवल ड्रग कंट्रोलर से इसकी अनुमति लिया जाना बाक़ी है.
उन्होंने बताया कि इसका तीन चरणों में ट्रायल हुआ था, जिसमें 303 लोगों ने भाग लिया और उन पर इसकी सफलता दर 97.3 फ़ीसदी थी. इसके कोई साइड इफ़ेक्ट भी नहीं पाये गए हैं.
उन्होंने यह भी बताया कि इस उत्पाद को दुनिया का पहला पुरुष प्रजनन निरोधक कहा जा सकता है क्‍योंकि अमरीकी शोधकर्ता फिलहाल ऐसे ही निरोधक पर काम कर रहे हैं.
भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद बायोमेडिकल रिसर्च की भारत में सर्वोच्च संस्था है. इसको भारत का स्वास्थ्य एवं परिवार मंत्रालय फ़ंड देता है.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *