13 दिवसीय विशाल सैन्‍य अभ्यास करने जा रहे हैं भारत और रूस

नई दिल्‍ली। भारत और रूस के बीच लंबे अरसे से एक अच्छा रिश्ता रहा है। इसे और मजबूत और प्रगाढ़ बनाने के लिए भारत और रूस एक साथ 13 दिवसीय विशाल सैन्‍य अभ्यास करने जा रहे हैं। बता दें कि रूस के शहर वोल्गोग्राड में आतंकवाद रोधी अभियानों पर नजर जमाने एवं अंतर्राष्ट्रीय आतंकी समूहों के खिलाफ जबरदस्त तैयारी के लिए भारत और रूस एक साथ‌ 1 अगस्त से 13 दिवसीय मेगा सैन्य अभ्यास आरंभ करेंगे।
भारत और रूस का विशाल सैन्य अभ्यास
भारतीय सेना ने मंगलवार को यह जानकारी देते हुए कहा कि भारत और रूस एक अगस्त से वोल्गोग्राड जो कि वोल्गा नदी के पश्चिमी तट पर स्थित एक प्रमुख रूसी शहर है, आतंकवाद रोधी अभियानों पर ध्यान केंद्रित करते हुए 13 दिवसीय विशाल सैन्य अभ्यास करेंगे। भारतीय सेना ने दोनों देशों के विशाल सैन्य अभ्यास के बारे में बताते हुए कहा कि ‘इंद्रा’ अभ्यास का 12 वां संस्करण द्विपक्षीय सुरक्षा सहयोग को मजबूत करने में एक और ‘मील का पत्थर’ होगा और भारत और रूस के बीच लंबे समय से दोस्ती के बंधन को मजबूत करने का काम करेगा।
भारतीय सेना ने बताया कि संयुक्त सैन्य अभ्यास के 12वें संस्करण में भारत और रूस दोनों पक्षों के 250 कर्मी भाग लेंगे। सेना ने कहा, ‘भारत-रूस संयुक्त सैन्य अभ्यास इंद्र-21 का 12वां संस्करण 1 से 13 अगस्त तक रूस के वोल्गोग्राड में आयोजित किया जाएगा।’
अंतर्राष्ट्रीय आतंकी समूहों के खिलाफ किया जाएगा यह विशाल सैन्य अभ्यास
भारत और रूस का यह 13 दिवसीय विशाल सैन्य अभ्यास अंतर्राष्ट्रीय आतंकी समूहों के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र के संयुक्त बलों के ढांचे के तहत किया जाएगा। यह अभ्यास आतंकवाद विरोधी अभियानों का संचालन करेगा।
सेना ने भारत और रूस के अभ्यास से पहले एक बयान में कहा कि ‘व्यायाम इंद्र -21 भारतीय और रूसी सेनाओं के बीच आपसी विश्वास और अंतर को और मजबूत करेगा और दोनों देशों की टुकड़ियों के बीच सर्वोत्तम प्रथाओं को साझा करने में सक्षम होगा।’ साथ ही भारतीय सेना ने बताया कि अभ्यास में भाग लेने वाली भारतीय सेना की टुकड़ी में एक मैकेनाइज्ड इन्फैंट्री बटालियन शामिल होगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *