गांधी परिवार के कारण भारत की जमीन चीन और पाक के कब्जे में: संबित पात्रा

नई दिल्‍ली। भारत और चीन में चल रहे तनातनी पर देश में सियासी संग्राम भी जारी है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी के सवालों पर बीजेपी ने पलटवार किया है। बीजेपी ने कहा कि कांग्रेस चीन पर भ्रम फैला रही है जबकि उनके शासनकाल के दौरान पाकिस्तान और चीन ने जम्मू-कश्मीर की 78,000 स्क्वॉयर किलोमीटर जमीन हड़प ली थी। बीजेपी ने आरोप लगाया कि राहुल गांधी के बयानों से देश का नुकसान हो रहा है।
कांग्रेस ने चीन-पाकिस्तान पर की ऐतिहासिक भूल
बीजेपी चीफ जेपी नड्डा के ट्वीट का जिक्र करते हुए प्रवक्ता संबिता पात्रा ने कहा कि कांग्रेस ने चीन और पाकिस्तान के मुद्दे पर ऐतिहासिक भूल की है। एक परिवार के मिसएडवेंचर के कारण देश को नुकसान पहुंचा है। उन्होंने सवाल पूछा, ‘सर्वदलीय बैठक में कांग्रेस का रुख चीन के प्रति नरम क्यों था? देश कांग्रेस को खारिज कर चुका है और यह पार्टी चीन पर भ्रम फैलाने में जुटी है।’
78 हजार स्क्वॉयर किलोमीटर कश्मीर की जमीन पर कब्जा: पात्रा
पात्रा ने 2012 में संसद में पाकिस्तान और चीन पर पूछे एक सवाल से कांग्रेस को घेरा। उन्होंने कहा कि यूपीए के शासनकाल के दौरान वाई एस चौधरी ने संसद में सवाल पूछा था। उन्होंने पूछा था कि चीन और पाकिस्तान ने भारत की कितनी जमीन हड़प ली है। क्या वे आगे बढ़कर और जमीन हड़प रहे हैं। सरकार ने इस बारे में क्या कदम उठाए हैं? इस पर तत्कालीन विदेश राज्यमंत्री ई अहमद ने कहा था, ‘पाकिस्तान और चीन ने मिलकर जम्मू-कश्मीर में कुल 78,000 स्कॉयर किलोमीटर जमीन हड़प रखी है। चीन ने जम्मू-कश्मीर में 38,000 किलोमीटर जमीन पर कब्जा कर रखा है जबकि पाकिस्तान ने एक समझौते के तहत उसे 5,180 किलोमीटर जमीन दे दी थी।’
‘गांधी परिवार के कारण भारत की जमीन चीन-पाक के कब्जे में’
पात्रा ने कहा कि नड्डा की तरफ से आज पूरा देश सवाल पूछ रहा है। मां-बेटे ये जवाब दें कि आपके परिवार या परिवार के नीचे जिन लोगों ने काम किया है उसने देश की 78 हजार स्क्वॉयर किलोमीटर जमीन क्यों दे दी। आपने 70 सालों के दौरान सीमा पर स्ट्रक्चर क्यों नहीं बनाया। 2013 में कांग्रेस के तत्कालीन रक्षा मंत्री एके एंटनी ने कहा था कि सीमा पर कोई विकास नहीं करेंगे यही हमारी पॉलिसी होगी। गांधी परिवार की वजह से भारत की जमीन चीन-पाकिस्तान के कब्जे में है।
1962 की जंग से लेकर सोनिया, मनमोहन को घेरा
पात्रा ने 1962 की जंग का जिक्र कर कहा कि हमारे सैनिकों को कैनवास के शूज पहनकर लड़ने के लिए भेज दिया गया था। उन्होंने कहा कि यूपीए के शासनकाल के दौरान सीमा पर क्यों नहीं स्ट्रक्चर बनाया गया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का रवैया चीन के प्रति नरम क्यों है। सोनिया गांधी को जवाब देना चाहिए यूपीए के शासनकाल में सीमा पर क्यों नहीं बना कोई स्ट्रक्चर?
चीन पर देश में छिड़ा है सियासी संग्राम
गौरतलब है कि चीन के मसले पर कांग्रेस लगातार सरकार को घेर रही है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी लगातार ट्वीट कर रहे हैं जबकि सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अपने-अपने बयान जारी किए हैं और सरकार पर निशाना साधा है।
इस बीच बीजेपी जेपी नड्डा भी लगातार कांग्रेस पर आक्रामक हैं और पलटवार कर रहे हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *