IND vs NZ: कानपुर टेस्‍ट बिना किसी नतीजे के समाप्त

कानपुर में खेला गया पहला टेस्ट मैच बड़े ही रोमांचक अंदाज में बिना किसी नतीजे पर समाप्त हुआ। मैच में कीवी टीम के सामने 284 रनों का टारगेट था और टीम ने अंतिम दिन डटकर बैटिंग करते हुए मुकाबले को ड्रॉ करा दिया। मैच को ड्रॉ कराने में डेब्यू कर रहे रचिन रवींद्र और एजाज पटेल ने बड़ी भूमिका निभाई। रचिन ने 91 गेंदें खेलीं जबकि एजाज ने भी विकेट बचाते हुए 23 गेंदों का सामना किया। आखिरी विकेट के लिए इस जोड़ी ने कुल 52 गेंदों का सामना किया।
भारत में जन्में एजाज और रवींद्र
रचिन का जन्म 18 नवंबर 1999 को न्यूजीलैंड के वेलिंग्टन में हुआ था। उनके पिता का नाम रवि कृष्णमूर्ति और माता का नाम दीपा कृष्णमूर्ति है। न्यूजीलैंड में हट हॉक्स क्लब के संस्थापक रवींद्र के पिता रवि 1990 के दशक की शुरुआत में भारत से चले गए थे। वह पहले बेंगलुरु में रहते थे। एजाज का जन्म भारत में मुंबई में हुआ था लेकिन बाद में जब वे आठ साल के थे तो उनका परिवार न्यूजीलैंड शिफ्ट हो गया था।
अश्विन के हाथ लगा ब्लंडल का विकेट
76वें ओवर की आखिरी गेंद पर टॉम ब्लंडल के खिलाफ LBW की अपील की गई, लेकिन अंपायर ने आउट नहीं दिया। कप्तान रहाणे और अश्विन ने लंबी बातचीत के बाद रिव्यू लिया और रीप्ले में नजर आया कि गेंद लेग स्टंप मिस कर रही थी। ब्लंडल नॉटआउट रहे। मगर अश्विन ने इसके बाद अपने अगले ही ओवर में ब्लंडल (2) को बोल्ड कर टीम इंडिया को 7वीं सफलता दिलाई। काइल जेमीसन (5) का विकेट रवींद्र जडेजा के खाते में आया। न्यूजीलैंड का 9वां विकेट जडेजा ने साउदी (4) को आउट कर चटकाया।
टी-ब्रेक के बाद बदली मैच की तस्वीर
टी-ब्रेक के बाद पहले ही ओवर में अक्षर पटेल ने हेनरी निकोल्स (1) को LBW कर कीवी टीम को 5वां झटका पहुंचाया। हालांकि निकोल्स ने DRS लिया, लेकिन रीप्ले में नजर आया कि गेंद मिडिल-ऑफ स्टंप को हिट कर रही थी और हेनरी आउट हुए। टीम अभी इस झटके से उबर भी नहीं थी कि जडेजा ने केन विलियम्सन (24) को LBW आउट कर NZ की कमर तोड़कर रख दी।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *