भागवत कथा में भक्तों ने किये गोवर्धन महाराज के दर्शन

आगरा। केंद्रीय हिंदी संस्थान रोड स्थित बम्बई वाली बगीची पर लक्ष्मी नारायण मंदिर में चल रही श्रीमद भागवतकथा ज्ञान यज्ञ में मंगलवार को श्रीकृष्ण की माखन चोरी, बाललीला तथा  गोवर्धन पूजन वर्णन किया गया । व्यासपीठ से आचार्य सुभाषचंद्र शास्त्री ने कहा कि बृजवासी इंद्र के कोप से डरकर श्रीकृष्ण से इस आपत्ति से बचाने की कहने लगे, तब भगवान कृष्ण ने गिरिराज पर्वत को अपनी उंगली पर उठा कर ब्रजवासियों को इंद्र के कोप से बचाया एवं अभिमानी इंद्र का अभिमान चूर-चूर कर दिया। उसी दिन से ब्रज वासियों द्वारा इंद्र की पूजा करने की जगह गिर्राज महाराज की पूजा प्रारंभ कर दी। जोगनियां बन आयौ छलिया नंदकिशोर… जैसे भजनो ने भक्तो को भवन में झूमने पर मजबूर कर दिया ।
सात दिवसीय भागवत कथा के पांचवेंं दिन व्यास गद्दी पर विराजमान आचार्य सुभाषचंद्र शास्त्री ने कृष्ण भागवन की कई बाल-लीलाओ पर चर्चा करते हुए झांकियेा के माध्यम से हर कथा का खुबसुरत चित्रण किया । कथा के मुख्य यजमान जगदीश प्रसाद चतुर्वेदी व ह्रदेश चतुर्वेदी रहे। बुधवार को रासलीला व रुक्मणि विवाह का वर्णन किया जायेगा । महंत प्रेमप्रकाश गौड़, डॉ० एनके चतुर्वेदी, राकेश यादव, डॉ० शिशिर चतुर्वेदी, अशोक शर्मा, डॉ० एनके यादव, निशांत चतुर्वेदी, शोभा यादव, सपना चतुर्वेदी, तृप्ति चतुर्वेदी आदि ने श्री महापुराण की आरती की ।
50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *