कनाडा में पाकिस्तानी परिवार की हत्या पर इमरान बोले, बढ़ रहा है इस्लामोफ़ोबिया

इस्‍लामाबाद। पाकिस्तान सरकार ने कनाडा में पाकिस्तानी मूल के एक परिवार के चार सदस्यों की हत्या पर सख़्त प्रतिक्रिया करते हुए इसे एक चरमपंथी घटना बताया है और कहा है कि इस घटना से पता चलता है कि पश्चिमी देशों में इस्लामोफ़ोबिया यानी इस्लाम को लेकर भय या नफ़रत का माहौल बढ़ता जा रहा है.
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने इस घटना की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए ट्विटर पर लिखा है कि “कनाडा के ओंटारियो प्रांत में पाकिस्तानी मूल के एक मुस्लिम परिवार की हत्या की घटना से आहत हूँ.”
“इस आतंकी घटना से पश्चिमी देशों में बढ़ते इस्लामोफ़ोबिया का पता चलता है जिसके (इस्लामोफ़ोबिया) ख़िलाफ़ पूरे अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को मिलकर लड़ने की ज़रूरत है.”
पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने भी इस मामले पर टिप्पणी की है. उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “पाकिस्तानी मूल के एक कनाडाई परिवार की तीन पीढ़ियों की सिर्फ़ इसलिए निर्मम हत्या कर दी गई कि वो मुसलमान थे.”
“यह एक जघन्य घटना है जिसकी जड़ें इस्लामोफ़ोबिया और नफ़रत से जुड़ी हुई हैं. हम पीड़ित परिवार से पूरी सहानुभूति रखते हैं और यह प्रार्थना करते हैं कि इस परिवार का एकमात्र जीवित सदस्य- नौ साल का एक बच्चा जल्द ही इस घटना से उबर पाये.”
कनाडा पुलिस ने बताया है कि एक ‘पूर्व नियोजित’ वाहन हमले में एक मुस्लिम परिवार के चार सदस्यों की मौत हो गई. ये कथित हमला ओंटारियो प्रांत की सिटी ऑफ़ लंदन में हुआ.
रविवार को इस परिवार के चार लोग अपने घर के बाहर टहल रहे थे जब 20 साल के एक स्थानीय व्यक्ति ने उन्हें अपनी ट्रक से रौंद दिया.
घटना में 46 वर्षीय फ़िज़ियोथेरेपिस्ट, उनकी पत्नी और पीचडी छात्रा (44), नवीं कक्षा में पढ़ने वाली उनकी बेटी (15) और उसकी 74 वर्षीया दादी की मौत हो गई.
परिवार का सिर्फ़ एक 9 वर्षीय लड़का जीवित बचा जो गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती है. हालाँकि उसकी स्थिति ख़तरे से बाहर बताई गई है.
इनके परिवार की इच्छा के अनुसार कनाडा पुलिस ने इनके नाम सार्वजनिक नहीं किये हैं.
पुलिस के मुताबिक़ 20 वर्षीय कनाडाई युवक नथानियल वेल्टमैन पर इन चार लोगों की हत्या और एक की हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया गया है.
सोशल मीडिया पर इस घटना की जमकर आलोचना हो रही है. लोग लिख रहे हैं कि “ये ना कहा जाये कि इस्लामोफ़ोबिया जैसी कोई चीज़ नहीं होती और इसके परिणाम हमारे समाज में दिखाई नहीं देते.”
कौन था हमलावर?
पुलिस ने हमलावर के बारे में बताया है कि वो ओंटारियो के सिटी ऑफ़ लंदन का ही रहने वाला है. उसे घटनास्थल से क़रीब 6 किलोमीटर दूर एक शॉपिंग सेंटर से गिरफ़्तार कर लिया गया था.
हालांकि यह अभी तक साफ़ नहीं है कि संदिग्ध व्यक्ति किसी हेट ग्रुप से जुड़ा हुआ था या नहीं.
डिटेक्टिव सुप्रीटेंडेंट पॉल वेट ने बताया कि अब तक संदिग्ध और पीड़ितों के बीच पिछला कोई संबंध होने के बारे में पता नहीं चला है.
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *