इमरान Khan बोले, मोदी जीतते हैं तो शांति वार्ता की संभावना अधिक

इस्‍लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान Khan मानते हैं कि अगर भारत के आम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की जीत होती है और नरेंद्र मोदी दोबारा प्रधानमंत्री बनते हैं तो शांति वार्ता की संभावना ज़्यादा रहेगी.
गुरुवार को विदेशी पत्रकारों से इमरान Khan ने कहा कि अगर भारत में नई सरकार विपक्षी पार्टी कांग्रेस की बनती है तो हो सकता है कि वो पाकिस्तान के साथ बातचीत को लेकर डरी हुई हो.
Khan का मानना है कि कांग्रेस को ये डर भारत की दक्षिणपंथी पार्टियों से होगी. पीएम Khan ने कहा, ”बीजेपी दक्षिणपंथी पार्टी है और वो जीतती है तो कश्मीर को लेकर बातचीत आगे बढ़ सकती है. हालांकि मोदी के भारत में मुसलमान पूरी तरह से ख़ुद को अलग-थलग महसूस कर रहे हैं.”
पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने कहा, ”अभी भारत में जो हो रहा है उसके बारे में मैंने कभी सोचा तक नहीं था कि ऐसा भी होगा. भारत में मुसलमानों की पहचान पर हमला हो रहा है. मोदी इसराइल के पीएम नेतन्याहू की तरह हैं. दोनों डर और राष्ट्रवादी भावना के आधार पर चुनाव जीतना चाहते हैं.”
इमरान ख़ान ने कहा कि बीजेपी ने जम्मू-कश्मीर से विशेष दर्जा छीनने की बात कही है और ये काफ़ी चिंताजनक है. हालांकि ख़ान ने कहा कि संभव है कि ये चुनावी जुमला हो.
पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेट कप्तान ने कहा कि जिन मुसलमानों को भारत में मैं जानता हूं और जो कुछ समय पहले तक काफी खुश थे पर अभी कट्टर हिंदुत्व के कारण उन्हें चिंता हो रही है. पाक पीएम ने कहा कि इस सप्ताह बीजेपी ने जम्मू-कश्मीर के लोगों से दशकों पुराने विशेष अधिकारों का प्रस्ताव को खत्म करने का संकल्प लिया है, जिसके तहत किसी बाहरी व्यक्ति के राज्य में संपत्ति खरीदने पर प्रतिबंध है, यह एक बड़ी चिंता है. हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि यह सिर्फ चुनावी स्टंट हो सकता है. इमरान ने भारत से शांति की पहल करते हुए कहा कि उनका देश अपने यहां स्थित सभी आतंकी ठिकानों को खत्म करने को लेकर प्रतिबद्ध है. सरकार इस मामले पाकिस्तानी सेना को पूरा समर्थन दे रही है.
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *