इमरान खान ने माना, बुशरा बेगम की सलाह के बिना नहीं करता कोई काम

इस्‍लामाबाद। पाकिस्‍तान की प्रथम महिला बुशरा बेगम निकाह के बाद से ही पूरी दुनिया के लिए रहस्‍य बनी हुईं हैं। अब निकाह के लंबे समय बाद पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान नियाजी ने अपनी रहस्‍यमय बीबी के साथ अपने संबंधों के बारे में कई खुलासे किए हैं। इमरान खान ने कहा कि उनकी पत्‍नी बहुत बुद्धिमान हैं। इमरान ने कहा कि वह सरकार से जुड़े हर मुद्दे पर अपनी पत्‍नी के साथ चर्चा करते हैं।
इमरान खान का यह बयान ऐसे समय पर आया है जब बुशरा बीबी पर पर्दे के पीछे सरकार चलाने के आरोप लग रहे हैं। बुशरा बीबी पर जादू-टोना करने के भी आरोप लगे हैं। इमरान खान ने जर्मनी की पत्रिका डेर स्‍पीगल को दिए साक्षात्‍कार में कहा, ‘मैं अपनी पत्‍नी के साथ हर मुद्दे पर चर्चा करता हूं। इसमें वे समस्‍याएं भी शामिल हैं जिनका मैं सरकार चलाते समय और जटिल परिस्थितियों का सामना करते समय करता हूं।’
‘बुशरा बीबी के बिना मेरी जिंदगी आसान नहीं होगी’
पाकिस्‍तानी पीएम ने कहा कि वह केवल एक मूर्ख होता है जो हर मुद्दे पर अपनी पत्‍नी से बात नहीं करता है। इमरान ने कहा, ‘बुशरा बीबी मेरी हमसफर हैं। वह मेरी जीवनसाथी हैं। उनके बिना मेरी जिंदगी आसान नहीं होगी।’ इमरान खान ने अपनी सरकार के सफलतापूर्वक संचालन के लिए पत्‍नी बुशरा बीबी को सारा क्रेडिट दिया।’ पूरे इंटरव्‍यू के दौरान इमरान खान ने कई बार बुशरा बीबी के बुद्ध‍िमत्‍ता की तारीफ की।
इससे पहले इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ की महिला सांसद उज्मा कारदार का एक ऑडियो सोशल मीडिया में खूब वायरल हो गया था। इसमें दावा किया जा रहा है कि उज्मा ने अपने किसी पत्रकार मित्र के साथ बातचीत में इमरान खान की तीसरी पत्नी बुशरा बीबी और पाकिस्तानी सेना पर जमकर आरोप लगाया। जिसने इस बातचीत को रेकॉर्ड किया उसे बाद में वायरल कर दिया।
‘चेहरा पढ़ लेती हैं बुशरा, जिन्‍नों से करती हैं बात’
उज्मा ने इसमें कहा कि पाकिस्तान को पीएम इमरान की पत्नी बुशरा बीबी चला रही हैं और वे अपनी पत्नी से बिना पूछे कोई काम नहीं कर सकते। बुशरा बीबी इमरान खान का चेहरा पढ़ लेती हैं। बुशरा जिन्नों से बात करने वाली महिला हैं और उनको पता चल जाता है कि इमरान का आज का दिन कैसा बीता। उज्मा इस बातचीत के दौरान कहती सुनाई दे रही हैं कि इमरान को बुशरा ही चला रही हैं।
बुशरा ने घर में एक लाइन खींच दी है उसके आगे कोई भी नहीं जा सकता। पहले तो हम लोग आराम से इमरान के घर चले जाते थे लेकिन बुशरा के आने के बाद बाकी को तो छोड़िए शाह महमूद कुरैशी भी अंदर नहीं जा सकते हैं। इस बातचीत के दौरान उज्मा ने पाकिस्तानी फौज को लेकर भी काफी कुछ कहा। उन्होंने दावा किया कि सरकार के काम में फौज का पूरा दखल होता है और इसमें गलत क्या है। पाकिस्तान में यह हमेशा से हुआ है। यहां फौज के बिना कोई सरकार चल ही नहीं सकती है। बता दें कि उन्होंने इस बातचीत में फौज को एस्टेबिलिशमेंट के नाम से संबोधित किया है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *