Mahakumbh 2021 के लिए हरिद्वार में अखाड़ा परिषद की अहम बैठक शुरू

हरिद्वार। Mahakumbh 2021 की तैयारियों को लेकर आज हरिद्वार में अखाड़ा परिषद की अहम बैठक हो रही है। बैठक में हरिद्वार महाकुंभ की तैयारियों पर चर्चा होगी। साथ ही, अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण को लेकर भी कोई बड़ा ऐलान किया जा सकता है।

हरिद्वार में Mahakumbh 2021 मेला लगने वाला है, जिसको लेकर आज अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने अहम बैठक बुलाई है। जिसमें सभी 13 अखाड़े के अधिकारी उपस्थित रहेंगे। इस बैठक में 2021 में होने वाले कुंभ मेले को लेकर चर्चा होगी। बैठक के बाद अखाड़ा परिषद उत्तराखंड के मुख्यमंत्री को एक ज्ञापन देंगे साथ ही बैठक में मुख्यमंत्री भी शामिल होंगे।

बता दें कि प्रयागराज में भव्य कुंभ के आयोजन के बाद अब हरिद्वार में 2021 में अयोजित होने वाले महाकुंभ की तैयारियां तेज हो गई हैं। इसको लेकर हरिद्वार में जूना अखाड़े के माया देवी मंदिर में साधु-संतों की सर्वोच्च संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने अहम बैठक बुलाई है। बैठक की अध्यक्षता अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी करेंगे। माना जा रहा है किबैठक में कई प्रस्ताव भी पास किए जा सकेंगे। बैठक में हरिद्वार महाकुंभ के लिए प्रयागराज कुंभ की तरह ही बजट की व्यवस्था और हरिद्वार में जगह की कमी के चलते उसके विस्तार पर भी चर्चा होगी।

इस अवसर पर हरिद्वार स्थित माया देवी मंदिर परिसर में आयोजित हो रही इस बैठक में अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी जी महाराज, महामंत्री हरि गिरी महाराज सहित 13 अखाड़ा परिषदों के प्रमुख और सदस्य मौजूद रहेंगे।

बताया गया कि शुक्रवार शाम भी नरेंद्र गिरी महाराज ने अन्य संतों से महाकुंभ की तैयारियों को लेकर बात की। आज बैठक में कुछ महत्वपूर्ण फैसले लिए जाने की भी संभावना जताई जा रही है।

हरिद्वार कुंभ को सफलता पूर्वक आयोजित करने का दबाव
उत्तर प्रदेश सरकार के इलाहाबाद में अर्द्धकुंभ के भव्य आयोजन के बाद उत्तराखंड सरकार पर हरिद्वार कुंभ को सफलता पूर्वक आयोजित करने का दबाव है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यह कह चुके हैं कि हरिद्वार महाकुंभ भी प्रयाग अर्द्धकुंभ से बढ़कर होगा।

इसके बाद त्रिवेंद्र सरकार ने सरकारी मशीनरी को भी महाकुंभ से संबंधित अवस्थापना विकास के लिए कमर कसने को कहा है। धर्मनगरी को यातायात के दबाव से बचाने और घाटों को सुविधा संपन्न बनाने की योजनाओं पर भी तेजी से काम शुरू हो गया है। महाकुंभ से पहले हरिद्वार-देहरादून राष्ट्रीय राजमार्ग का निर्माण किया जाना है।

महाकुंभ की तैयारियों की मानिटरिंग कर रहे मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री स्वयं महाकुंभ की तैयारियों की मानिटरिंग कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री मोदी से महाकुंभ के लिए आर्थिक मदद मांगी है। केंद्र से मिले आश्वासन के बाद अब मुख्यमंत्री हरिद्वार के साधु संतों के बीच पहुंच रहे हैं।

सरकार के सामने बड़ी दिक्कत यह है कि प्रयाग में आयोजन के लिए विशाल क्षेत्र उपलब्ध है, जबकि हरिद्वार में सीमित स्थान के भीतर सभी सुविधाओं को उपलब्ध करवाना है। इसके लिए अखाड़ों का सहयोग बेहद महत्वपूर्ण रहेगा। मुख्यमंत्री इसी उद्देश्य से साधु संतों के बीच जाकर उनको तैयारियों से अवगत करवाने के साथ उनसे सुझाव लेंगे।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »