IMF ने कहा, कोरोना के कारण उपजी वैश्विक मंदी 2008 के वित्तीय संकट से अधिक गंभीर

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) प्रमुख क्रिस्टालिना जॉर्जीवा ने कहा कि कोरोना के कारण वैश्विक मंदी की शुरुआत हो चुकी है। उन्होंने यह भी कहा कि 2020 की मंदी 2008 में आए वित्तीय संकट से ज्यादा गंभीर है। उन्होंने कहा कि यह दोहरा संकट है। यहां आर्थिक और स्वास्थ्य दोनों समस्याएं गंभीर हैं।
आजीविका पर काम करने की जरूरत
जॉर्जीवा ने कहा कि दुनियाभर में कोविड-19 से लड़ाई के बीच जीवन बचाने और आजीविका की रक्षा पर साथ में काम किए जाने की आवश्यकता है।
विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के अनुसार वर्तमान में 10 लाख से अधिक लोग दुनियाभर में कोविड-19 संक्रमण से संक्रमित हुए हैं, जिनमें से 50 हजार से अधिक व्यक्तियों ने अपनी जान गंवाई है।
लॉकडाउन से टेम्पररी वर्कर्स के सामने रोटी का संकट
21 दिनों के कोरोना लॉकडाउन के कारण पूरे देश में सबकुछ बंद है। भारत एक ऐसा देश है जहां सैलरीड रोजगार काफी कम है। यहां दिहाड़ी और टेम्पररी वर्कर्स की संख्या काफी ज्यादा है। लॉकडाउन के कारण फैक्ट्री और तमाम मैन्युफैक्चरिंग यूनिट्स बंद हैं। लॉकडाउन का सबसे बुरा असर इन्हीं टेम्पररी वर्कर्स पर पड़ा है। उनके सामने तो खाने की भी समस्या पैदा हो गई है।
लॉकडाउन में राहत की अपील
कई आर्थिक जानकार सरकार को सलाह दे रहे हैं कि लॉकडाउन के बीच में थोड़ी राहत इन मजदूरों को ध्यान में रखते हुए दिया जाए। उनका कहना है कि अगर लॉकडाउन और लंबा चलता है तो ये भारत की आबादी को प्रभावित करेगा। मनरेगा जैसी योजना से भी लाखों गरीब वंचित हैं। आईएमएफ ने भी कहा कि लॉकडाउन के साथ-साथ सरकारों को आजीविका सुरक्षित और सुनिश्चित करने पर भी काम करने की जरूरत है।
फिच का अनुमान 2 पर्सेंट
इन तमाम परिस्थितियों के कारण भारत में स्थिति और गंभीर दिख रही है। तमाम रेटिंग एजेंसियों ने ग्रोथ रेट का अनुमान काफी कर दिया है। फिच ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए ग्रोथ रेट का अनुमान घटाकर 2 पर्सेंट कर दिया है जबकि 2020-21 के लिए यह 5.6 पर्सेंट से घटाकर 5.1 पर्सेंट किया है।
मूडीज का अनुमान 2.5 पर्सेंट
मार्च में मूडीज इन्वेस्टर्स ने 2020 कैलेंडर इयर के लिए ग्रोथ का अनुमान घटाकर 2.5 पर्सेंट कर दिया है। पहले यह अनुमान 5.3 पर्सेंट था। बार्कले ने भी कहा कि 21 दिनों के लॉकडाउन के कारण कैलेंडर इयर 2020 में ग्रोथ रेट 2.5 पर्सेंट रहेगा। पहले यह अनुमान 4.5 पर्सेंट था।
ADB का अनुमान 4 पर्सेंट
एशियन डिवेलपमेंट बैंक (ADB) ने कहा कि कोरोना के कारण वित्त वर्ष 2020 में ग्रोथ रेट 4 पर्सेंट पर पहुंच जाएगा। इस महामारी से वैश्विक अर्थव्यवस्था को 4.1 ट्रिल्यन डॉलर नुकसान का अनुमान जताया गया है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *