लंबा, स्वस्थ व अच्छा जीवन जीने की कला है ikigai

जापान में एक स्थान है ओकिनावा जो लोगों की लम्बी ज़िंदगी के लिए दुनिया में मशहूर है. इन लोगों का कहना है रोज़ जीना चाहिए और रोज़ जीतना चाहिए. जापानियों के अनुसार हर व्यक्ति की एक इकिगाई (ikigai) होती है. इकिगाई शब्द का जापानी भाषा में अर्थ है ‘सुबह उठने का कारण’. इसे जीवन का उद्देश्य या जीवन का आनंद लेने का कारण भी कहा जाता है.

4 फॉर्मूले हैं लम्बे जीवन के लिये
ओकिनावा के बुजुर्ग जो छोटे बच्चों को सिखाते हैं वह हम भी सीख सकते हैं. वे बताते हैं कि लम्बी आयु के लिए आपको स्वयं को बदलना होगा. आपको ध्यान देना होगा अपनी पसंद पर, अपनी खूबी पर, अपने पेशे पर और अपनी कुशलता पर. ये चार चीज़ें आपको जिम्मेदारी देंगी और साथ में देंगी उत्साह, खुशियां, तरक्की और समृद्धि.

यहां की संस्कृति का नाम है इकिगाई
यहां की विशेष इकिगाई संस्कृति लम्बी ज़िंदगी का मूल मंत्र बताते हुए कहती है सुबह जब आप उठें तो आपके सामने चार बातें साफ होनी चाहिए- अपनी पसंद, अपना सबसे बड़ा गुण, अपनी जिम्मेदारियां और अपना काम. इन चार चीज़ों से आपके जीवन का लक्ष्य और उद्देश्य साफ़ हो जाता है और आप अपने लिए हर दिन एक नया लक्ष्य तय करते हैं और उसे हासिल करके विजेता बनते हैं. फिर अगले दिन आपके सामने एक नई ऊंचाई और उसे हासिल करने का लक्ष्य और संतुष्टि होती है. आपके जीवन में चलने वाला सफलता का यह चक्र आपको हमेशा युवा बनाये रखता है.

तो क्या आपने अपनी इकिगाई खोज ली है?

आप वह कौन सा काम करने जा रहे हैं जिसे आप करना पसंद करते हैं?
क्या यह ऐसा काम है जिसकी दुनिया में ज़रूरत है?
क्या यह ऐसा काम है जिसमें आप एक्सपर्ट हैं?
और क्या यह ऐसा काम है जिससे आप पैसा कमा सकते हैं?
लंबा, स्वस्थ और खुशहाल जीवन बिताने के लिए आप आज क्या कर सकते हैं?

कभी किसी को मुकम्मल जहां नहीं मिलता, कहीं जमीं तो कहीं आसमां नहीं मिलता.

ग़ज़ल की यह लाइन आज बहुत से प्रोफ़ेशनल्स के जीवन की स्थिति पर खरी उतरती है. लोगों के जीवन का कोई-न-कोई पक्ष ऐसा रह जाता है जिसे लेकर वे खुश नहीं होते. यदि नौकरी में पैसा अच्छा-खासा मिल रहा होता है तो वे काम को पसंद नहीं करते. यदि मनचाहा काम करते हैं तो पैसे की तंगी से जूझते हैं. यदि काम और पैसा दोनों ही मनचाहा होता है तो अपने लिए और परिवार के लिए वक्त नहीं मिलता. यदि सब कुछ मिलता है तो भीतर दबी किसी चाह को पूरा नहीं कर पाने की कसक दिल में बनी रहती है. इकिगाई वह पैशन है जिसके लिए लोग आनेवाली हर सुबह जगकर चाहे-अनचाहे अपने काम में लग जाते हैं.

वह उद्देश्य खोजिए जिसमें आप गहराई से यकीन करते हों और सोचना बंद कीजिए और काम करना शुरु कीजिए. आपके जैसा पैशन रखने वालों के संपर्क में रहें.  राह में लगनेवाली ठोकरों से विचलित न हों. तो अपनी इकिगाई या पैशन की पहचान कीजिए. इसे फॉलो करना ही नहीं बल्कि इसकी खोज करना भी आत्मविकास की दिशा में आपके जीवन की सबसे महत्वपूर्ण यात्रा हो सकती है. यह यात्रा चुनौतियों और कंटकों से भरी होगी. आपके मार्ग में उतार-चढ़ाव और खराब मौसम आते-जाते रहेंगे. आपको मन में विश्वास बनाए रखना है और यह भी जान लेना है कि बड़ी यात्राएं एक रात में पूरी नहीं होतीं. आप अपने घर की आरामकुर्सी पर बैठे रहकर इस बात का इंतज़ार नहीं कर सकते कि किसी दिन कोई आपको सुनहरे भविष्य की चाबी दे जाएगा. आपको उठना है, चलना है, और मंजिल तक पहुचे बिना रुकना नहीं है.
– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *