रणजी ट्रॉफी की उपेक्षा से ‘रीढ़हीन’ हो जाएगा भारतीय क्रिकेट: रवि शास्त्री

पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री ने शुक्रवार को कहा कि रणजी ट्रॉफी की उपेक्षा करने से भारतीय क्रिकेट ‘रीढ़हीन’ हो जाएगा। शास्त्री ने यह बयान ऐसे समय में दिया है जब कोरोना महामारी के कारण पिछले साल रद्द होने के बाद इस साल भी रणजी ट्रॉफी स्थगित कर दी गई है। रणजी ट्रॉफी 13 जनवरी से खेली जानी थी लेकिन कोरोना महामारी की तीसरी लहर के कारण इसे अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है।
शास्त्री ने ट्वीट किया, ‘रणजी ट्रॉफी भारतीय क्रिकेट की रीढ़ है। इसकी उपेक्षा करने पर आप रीढ़हीन हो जाएंगे।’ बीसीसीआई कोषाध्यक्ष अरुण धूमल ने बृहस्पतिवार को बोर्ड की बैठक के बाद कहा कि बोर्ड दो चरण में रणजी ट्रॉफी का आयोजन कर सकता है। इसकी वजह यह है कि 27 मार्च से आईपीएल शुरू हो रहा है और ऐसे में एक बार में रणजी ट्रॉफी करा पाना संभव नहीं है।
बैठक में बोर्ड अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह भी मौजूद थे। बोर्ड की योजना रणजी टृॉफी का पहला सत्र फरवरी से मार्च और दूसरा सत्र जून जुलाई में कराने की है। महामारी के कारण पिछले सत्र में बीसीसीआई पुरुषों के सिर्फ दो सीमित ओवरों के टूर्नामेंट (विजय हजारे ट्रॉफी और सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी) करा पाया था।
बीसीसीआई ने पिछले सत्र में रणजी ट्रॉफी नहीं होने पर सभी प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों को मैच फीस का 50 फीसदी भुगतान किया था। इस साल भी टूर्नामेंट नहीं होता है तो भारत ए टीम जैसी टीमों के लिए क्रिकेटरों का पूल बनाने में दिक्कत होगी।
BCCI सचिव ने किया रणजी ट्रॉफी कार्यक्रम का ऐलान
बीसीसीआई सचिव जय शाह ने शुक्रवार को रणजी ट्रॉफी के कार्यक्रम का ऐलान कर दिया है। उन्होंने साफ कर दिया है कि इस साल टूर्नामेंट दो भागों में खेला जाएगा, जिसका पहला भाग फरवरी में होगा।
BCCI द्वारा रणजी ट्रॉफी के ऐलान से पहले टीम इंडिया के पूर्व कोच रवि शास्त्री ने बोर्ड पर निशाना साधते हुए रणजी ट्रॉफी की इम्पॉर्टेंस पर जोर दिया था।
इस पूरे मामले को देखने से ऐसा लग रहा है कि रवि शास्त्री की पोस्ट ने कहीं न कहीं बोर्ड पर घरेलू टूर्नामेंट कराने पर जोर दिया और जिसका नतीजा जय शाह के बयान के रूप में सामने आया।
ANI से बात करते हुए जय शाह ने कहा, बोर्ड ने इस सीजन में दो भागों में रणजी ट्रॉफी कराने का फैसला किया है। पहले चरण में, हम लीग चरण के सभी मैचों को पूरा करने की योजना बना रहे हैं जबकि नॉकआउट जून में होंगे।
उन्होंने आगे कहा, मेरी टीम इस योजना पर काम कर रही है। हम यह भी देख रहे हैं कि इस योजना से कोरोना के कारण खड़ी हुई परेशानियों को किस तरह कम किया जाए। हम पूरी कोशिश करेंगे कि इस बार हम रणजी के एक शानदार सीजन की मेजबानी करें। रणजी ट्रॉफी हमारी सबसे प्रतिष्ठित घरेलू प्रतियोगिता है। इससे भारतीय क्रिकेट को नए-नए टैलेंटेड क्रिकेटर्स मिलते हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *