15 दिनों में चार चिकित्सा ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित करेगी IFFCO

नई दिल्‍ली। सहकारी क्षेत्र की उर्वरक कंपनी इफको IFFCO ने सोमवार को कहा कि वह 30 करोड़ रुपये के निवेश से उत्तर प्रदेश, गुजरात और ओडिशा में 15 दिन के अंदर चार चिकित्सा ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित करेगी और इसकी अस्पतालों में मुफ्त आपूर्ति की जाएगी। ये संयंत्र कलोल (गुजरात), आंवला और फूलपुर (उत्तर प्रदेश) एवं पारादीप (ओडिशा) में लगाए जाएंगे। इफको के प्रवक्ता ने बताया कि इस संबंध में आदेश पहले ही जारी किया जा चुका है। ऑक्सीजन संयंत्रों को चालू होने में आज से कम से कम 15 दिन लगेंगे। एक दल खासतौर से इस परियोजना पर काम कर रहा है। इफको इसे जल्द से जल्द चालू करने की कोशिश करेगी।
इफको ने कहा है कि वह चार ऑक्सीजन संयंत्रों पर लगभग 30 करोड़ रुपये का निवेश करेगी। इफको के प्रबंध निदेशक और सीईओ यू एस अवस्थी ने रविवार देर रात घोषणा की थी कि गुजरात के कलोल संयंत्र में 200 घन मीटर प्रति घंटे की क्षमता वाला ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इफको अस्पतालों को मुफ्त ऑक्सीजन देगा। प्रत्‍येक सिलेंडर में 46.7 लीटर गैस होगी।
कलोल में प्रस्‍तावित ऑक्‍सीजन प्‍लांट में मेडिकल ग्रेड ऑक्‍सीजन का उत्‍पादन होगा और यहां 700 बड़े डी-टाइप सिलेंडर को रोज भरा जाएगा। इसके अलावा मांग के आधार पर 300 मीडियम बी-साइज सिलेंडरों को भी उपलब्‍ध कराया जाएगा। इन्‍हें सभी अस्‍प्‍तालों को फ्री में दिया जाएगा। अवस्‍थी ने कहा कि इफको अस्‍पतालों के लिए ऑक्‍सीजन सिलेंडर को मुफ्त में भरेगी लेकिन रिफि‍ल के लिए उन्‍हें अपना सिलेंडर खुद लेकर आना होगा। उन्‍होंने बताया कि यदि इफको से सिलेंडर लिया जाता है तो इसके लिए सिक्‍यूरिटी डिपोजिट लिया जाएगा ताकि ऑक्‍सीजन की जमाखोरी को रोका जा सके।
कोविड-19 संक्रमण के मामलों में हालिया उछाल को देखते हुए रोगियों के इलाज के लिए ऑक्सीजन की भारी मांग है। इसके चलते महाराष्ट्र, दिल्ली और उत्तर प्रदेश सहित देश के प्रमुख हिस्सों में ऑक्सीजन की कमी की खबरें आ रही हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *