हज के दौरान बिना परमिट सऊदी अरब गए तो देना होगा भारी जुर्माना

सऊदी अरब के गृह मंत्रालय ने कहा है कि आने वाले दिनों में जब हज यात्रा का आयोजन किया जाएगा, तब बिना परमिट के पवित्र स्थलों पर जाने वालों पर दस हज़ार सऊदी रियाल यानी 2666 अमरीकी डॉलर का जुर्माना लगाया जाएगा.
सऊदी अरब ने इस साल कोरोना वायरस की वजह से हज यात्रा के लिए सऊदी अरब आने वाले लोगों की संख्या को कम किया है.
सऊदी गृह मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि ये प्रतिबंध 19 जुलाई (धुल क़दाह) से 2 अगस्त (धुल हिज्जाह) तक चलेगा.
दूसरी बार इस प्रतिबंध का उल्लंघन करते हुए पकड़े जाने पर जुर्माने की राशि दुगनी यानी 2000 सऊदी रियाल और 5332 अमरीकी डॉलर हो जाएगी.
सऊदी प्रेस एजेंसी ने सऊदी अरब सरकार के गृह मंत्रालय का बयान छापा है.
गृह मंत्रालय का बयान कहता है– “गृह मंत्रालय के एक आधिकारिक सूत्र ने सभी नागरिकों और बाशिंदों से आगामी धार्मिक यात्राओं के दौरान नियमों का पालन करने को कहा है. उन्होंने ज़ोर दिया है कि हज के दौरान सुरक्षाकर्मी नियमों के उल्लंघन को रोकने के लिए पवित्र स्थलों तक जाने वालीं सभी सड़कों और रास्तों पर तैनात रहेंगे.”
सऊदी अरब के प्रशासकों का कहना है कि कोरोना वायरस की वजह से उन्होंने हज करने वालों की संख्या लगभग दस हज़ार तक करने का फ़ैसला किया है.
सऊदी अरब से बाहर रहने वाले लोगों के लिए इस साल हज करने की डेडलाइन बीते शुक्रवार ख़त्म हो गई.
इस्लामिक धारणाओं के मुताबिक़, हज इस्लाम के पाँच स्तंभों में से एक है और प्रत्येक शारीरिक रूप से सक्षम मुस्लिम को अपने जीवन में एक बार हज करना चाहिए. बीते साल 25 लाख लोगों ने मक्का और मदीना की यात्रा की थी.
-BBC

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *