बार-बार puncture होता है टायर तो…

नई दिल्‍ली। गाड़ी बार-बार puncture होती है तो ट्यूबलेस टायर्स ही बेस्ट ऑप्शन हैं। यूं तो इस समय मार्किट में ट्यूबवाले और ट्यूबलेस टायर्स मौजूद हैं लेकिन आजकल सबसे ज्यादा ट्यूबलेस टायर्स ही पसंद किये जा रहे हैं ।

ट्यूबलेस टायर के फायदे…
एक्सपर्ट मानते हैं कि ट्यूब वाले टायर्स के मुकाबले ट्यूबलेस टायर्स हलके होते हैं क्योकिं उनमेंं ट्यूब नहींं होती। इसलिए ये बेहतर माइलेज में भूमिका निभाते हैं साथ ही इनसे वाहन की परफॉरमेंस भी बढ़िया रहती है। इतना ही नहीं ट्यूबलेस टायर्स जल्दी गर्म भी नहीं होते।

टायर पंचर होने पर भी दिक्कत नहीं होती
चलती गाड़ी में अगर ट्यूब वाला टायर puncture हो जाए तो गाड़ी का बैलेंस बिगड़ने की संभावना ज्यादा बढ़ जाती है जिससे एक्सीडेंट हो सकता है और गंभीर चोट भी लग सकती है। लेकिन ट्यूबलेस टायर्स के साथ ऐसी दिक्कत नहीं है, पहली बात तो यह कि ये जल्दी से puncture नहीं होते और अगर हो भी जाए तो चलती गाड़ी का बैलेंस नहीं बिगड़ता। कुछ किलोमीटर तक आपकी गाड़ी बिना परेशानी के चली जाती है। ऐसे में ट्यूबलेस टायर्स काफी ज्यादा सेफ रहते हैं।

पंचर लगाना बेहद आसान
ट्यूबलेस टायर्स के puncture होने में पर आसानी से puncture बनवाया जा सकता है, इसके लिए टायर को खोलने की जरूरत नहीं पड़ती, puncture वाली जगह पर स्ट्रिप लगाई जाती है और फिर रबर सीमेंट की मदद से उस जगह को भर दिया जाता है। आप खुद भी पंचर लगा सकते हैं क्योंंकि यह बहुत आसान हैं। है। ट्यूबलेस टायर्स के लिए पंक्‍चर किट मार्किट में आसानी से मिल जाती है। ट्यूबलेस टायर की लाइफ ज्यादा होती है साथं ही ये ज्यादा समय तक चलते हैं। ट्यूबलेस टायर्स में हमेशा सही एयर प्रेशर रखें इससे इनके पंक्‍चर होने की संभावना भी काफी कम होती है।

टायर्स की लाइफ ऐसे बढ़ेगी, फिर नहीं होगा पंचर
ट्यूबलेस टायर्स की अगर लाइफ बढ़ानेे के लिए इन बातों का भी जरूर ध्यान रखें…
टायर्स में हमेशा सही एयर हवा रखें
ख़राब रास्तों पर गाड़ी चलाने से बचें
हमेशा साफ़ सुथरी जगह पर ही गाड़ी पार्क करें
ओरिजिनल और उन्हीं टायर्स को खरीदें जो आपकी के लिए बने हैं

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *