आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप-2020 का टलना लगभग तय

नई दिल्‍ली। ऑस्ट्रेलिया की मेजबानी में अक्टूबर-नवंबर में निर्धारित टी20 वर्ल्ड कप-2020 का टलना लगभग तय हो गया है। रिपोर्ट्स की मानें तो यह टूर्नामेंट किलर महामारी की वजह से 2022 तक टल सकता है।
अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के सूत्रों का कहना है कि मौजूदा हालात और मुश्किलों को देखते हुए बोर्ड सदस्यों की 28 मई को होने वाली बैठक में इसका औपचारिक ऐलान कर दिया जाएगा। अगर ऐसा होता है तो आईपीएल-2020 का रास्ता साफ हो जाएगा।
दरअसल, यह टूर्नामेंट अगले वर्ष इसलिए नहीं हो सकता है, क्योंकि भारत में पहले से ही एक टी-20 विश्व कप शेड्यूल है। ऐसे में एक वर्ष में एक ही फॉर्मेट के दो वर्ल्ड कप का आयोजन अनुचित होगा। एक वर्ष में दो T20 वर्ल्ड कप का समर्थ ब्रॉडकास्टर और क्रिकेट बोर्ड कभी नहीं करेंगे। ऑफिशल ब्रॉडकास्टर स्टार स्पोर्ट्स सूत्रों के अनुसार अगर भारत में अक्टूबर-नवंबर में आईपीएल (जिसकी संभावना है) होता है और अगले वर्ष अप्रैल में होता है तो 2021 में 2 विश्व कप प्रसारित करना आसान नहीं होगा।
सौरभ गांगुली का भी समर्थन?
मान जा रहा है कि टी-20 वर्ल्ड कप के 2022 तक टलने को लेकर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) अध्यक्ष आईसीसी का समर्थन करेंगे। बता दें कि भारत को 2023 में 50 ओवरों के वर्ल्ड कप की मेजबानी भी करना है। देखा जाए तो 3 वर्ष में 3 वर्ल्ड कप होंगे जबकि आईपीएल का आयोजन भी होता रहेगा। हालांकि, फिलहाल यह लीग अनिश्चित काल तक के लिए स्थगित कर दी गई है।
मीटिंग में इस पर भी चर्चा
आईसीसी बोर्ड भारत में होने वाले टी20 विश्व कप 2021 में करों के छूट के मसले पर भी चर्चा कर सकता है। बीसीसीआई ने लॉकडाउन के कारण इस पर सरकार का स्पष्ट रवैया जानने के लिये और समय देने के लिए कहा है। आईसीसी के नए चेयरमैन के लिए नामांकन प्रक्रिया जल्द ही शुरू होगी। इंग्लैंड एंव वेल्स क्रिकेट बोर्ड के पूर्व चेयरमैन कोलिन ग्रेव्स को इस पद का प्रमुख दावेदार माना जा रहा है लेकिन बीसीसीआई अध्यक्ष सौरभ गांगुली भी इसकी दौड़ में शामिल हो सकते हैं।
होगा यह फायदा
कोविड-19 महामारी के कारण बनी परिस्थितियों में अगर इसे औपचारिक रूप दे दिया जाता है तो इस फैसले से सदस्यों को आगामी महीनों के लिए अपनी द्विपक्षीय सीरीज का खाका तैयार करने में मदद मिलेगी। यह केवल सदस्य देशों से ही नहीं बल्कि प्रसारक स्टार स्पोर्ट्स से जुड़ा मुद्दा भी है जिसके पास संयोग से आईसीसी प्रतियोगिताओं के साथ साथ भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) और आईपीएल के भी प्रसारण अधिकार हैं।
फिलहाल हैं तीन विकल्प
1- क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को इस वर्ल्ड कप को फरवरी-मार्च में करवाने में कोई परेशानी नहीं, लेकिन इसके साथ एक समस्या है। और वह टी20 का ओवरडोज। अप्रैल में अगले साल का आईपीएल होना है। इसके साथ ही इंग्लैंड का भारत दौरा भी संकट में पड़ सकता है। इसके साथ ही प्रसारणकर्ता का भी अपना पक्ष है।
2- बीसीसीआई क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को 2021 के टी20 वर्ल्ड कप के आयोजन करवाने देने के लिए राजी हो जाए। और 2022 में अपने यहां टी20 वर्ल्ड कप का आयोजन करवा ले। इस आइडिया में मुश्किल यह है कि बीसीसीआई और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के बीच इस साल के आखिर में टेस्ट सीरीज का आयोजन करवाना चाहता है।
एक करीबी सूत्र ने बताया, ‘कोई वजह नहीं कि बीसीसीआई टी20 वर्ल्ड कप स्विच करने के लिए राजी हो जाए।’
3- ऑस्ट्रेलिया 2020 की बजाए 2022 में वर्ल्ड कप का आयोजन करवा ले। अगर ऐसा होता है तो यह ज्यादातर खिलाड़ियों को, आईसीसी और सभी को सूट करता है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *