ICC ने साल 2019 के पुरस्कार घोषित किए, कई भारतीय खिलाड़ी शामिल

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद यानी ICC ने बुधवार को साल 2019 के पुरस्कारों की घोषणा की. वनडे मैचों में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले और हिटमैन के नाम से मशहूर रोहित शर्मा को ‘क्रिकेटर ऑफ़ द ईयर’ चुना गया है. रोहित शर्मा ने साल 2019 में कुल मिलाकर सात सेंचुरी जड़ीं, जिनमें से पाँच शतक उन्होंने इंग्लैंड में हुए वर्ल्ड कप में लगाए थे.
ऑस्ट्रेलिया के तेज़ गेंदबाज़ पैट कमिंस को टेस्ट ‘क्रिकेटर ऑफ़ द ईयर’ चुना गया है जबकि टेस्ट में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले इंग्लैंड के बल्लेबाज़ को ‘टेस्ट क्रिकेटर ऑफ़ द ईयर’ चुना गया है.
वनडे की ICC की टीम में विराट कोहली कप्तान हैं. इसके अलावा टीम में ओपनर रोहित शर्मा, तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद शमी और चाइनामैन कुलदीप यादव को जगह मिली है.
ICC की टेस्ट टीम में सिर्फ़ दो भारतीय खिलाड़ियों को जगह मिली है. इस टीम की कप्तानी विराट कोहली को मिली है और ओपनर के रूप में मयंक अग्रवाल को शामिल किया गया है. इसके अलावा भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली को ‘स्पिरिट ऑफ क्रिकेट अवॉर्ड ‘ दिया गया है.
कोहली को क्यों मिला ये अवॉर्ड?
ये अवॉर्ड विराट कोहली को ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ हुए मुक़ाबले में दिखाई उनकी खेल भावना और दरियादिली के लिए दिया गया है.
वो तारीख़ थी 9 जून 2019, टूर्नामेंट था वर्ल्ड कप और जगह थी इंग्लैड का ओवल मैदान.
इस मुक़ाबले में कोहली ने 82 रनों की पारी खेली थी. लेकिन मुक़ाबला जिस वजह से सुर्खियों में रहा, वो थी भारतीय कप्तान की दरियादिली.
दरअसल, भारतीय पारी के दौरान कुछ भारतीय दर्शक सीमा पर फ़ील्डिंग कर रहे ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी स्टीव स्मिथ को चिढ़ाने लगे.
उस वक़्त विराट कोहली क्रीज़ पर थे और जब उन्होंने यह देखा तो उन्होंने वहीं से इशारा करके कहा कि वे स्टीव स्मिथ का ताली बजाकर सम्मान करें.
इसके बाद स्क्रीन पर यह भी दिखा कि जब कोहली और स्मिथ आमने-सामने आए तो स्मिथ ने मुस्कुराकर और पीठ ठोंककर उनकी खेल भावना के लिए उन्हें शुक्रिया कहा.
यह साफ़ नहीं हुआ था कि भारतीय दर्शक स्टीव स्मिथ से क्या कह रहे थे लेकिन भारतीय मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि उन्हें ‘चीटर’ यानी धोखेबाज़ कहकर चिढ़ाया जा रहा था.
ऑस्ट्रेलिया के क्रिकेट पत्रकार सैम लैंड्सबर्गर ने ये वाक़्या साझा करते हुए लिखा, “वाह. विराट कोहली की कितनी शानदार बात है. स्टीव स्मिथ को सीमा के पास फ़ील्डिंग के लिए भेजा गया और तुरंत ही भारतीय दर्शक उन्हें चिढ़ाने लगे. तो कोहली उनकी ओर मुड़े और उन्हें स्मिथ के लिए ताली बजाने का इशारा किया.”
विराट ने स्मिथ से मांगी माफ़ी
हालांकि मैच के बाद विराट कोहली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस पर कहा था, “यहां बहुत सारे भारतीय समर्थक थे और मैं उन्हें ख़राब उदाहरण नहीं पेश करने देना चाहता था. मेरे विचार में उन्होंने (स्मिथ ने) ऐसा कुछ नहीं किया कि उनकी हूटिंग हो. वो तो केवल क्रिकेट खेल रहे थे. वो वहां खड़े थे और यदि वैसी चीज़ें मेरे साथ होती, मैं माफ़ी मांग चुका होता और फिर वापसी करता, इसके बावजूद मुझे ऐसी परिस्थिति का सामना करना पड़ता तो मुझे भी अच्छा नहीं लगता. इसलिए मैंने दर्शकों के व्यवहार के लिए स्मिथ से माफ़ी मांगी. उनके साथ पहले भी कुछ मैचों में ऐसा हो चुका है और मुझे लगता है यह सही नहीं है.”
साल 2018 में दक्षिण अफ्रीका के ख़िलाफ़ एक टेस्ट मैच में तत्कालीन ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ और बल्लेबाज़ कैमरन बैनक्रॉफ्ट ने मिलकर गेंद से छेड़छाड़ करने की बात स्वीकार की थी.
इस मामले में डेविड वॉर्नर भी संलिप्त पाए गए थे.
इसके बाद स्टीव स्मिथ से कप्तानी छिन गई थी और उन पर और वॉर्नर पर एक साल का प्रतिबंध लगा था.
-BBC

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *