हैदराबाद टेस्ट: दूसरे दिन मजबूत स्थिति में पहुंचा भारत, 4 विकेट पर 308 रन

हैदराबाद। रिषभ पंत (85 नाबाद) और अजिंक्य रहाणे (75 नाबाद) के बीच हुई नाबाद शतकीय भागीदारी की मदद से भारत शनिवार को वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच में मजबूत स्थिति में पहुंच गया। भारत ने दूसरे दिन की समाप्ति के समय भारत ने पहली पारी में 81 ओवरों में 4 विकेट पर 308 रन बना लिए हैं। भारत 3 रन पीछे है जबकि उसके 6 विकेट शेष है। इससे पहले रोस्टन चेज के शतक (106) की मदद से वेस्टइंडीज ने पहली पारी में 311 रन बनाए। उमेश यादव ने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 6 विकेट लिए।
भारत की पहली पारी में केएल राहुल खुलकर नहीं खेल पा रहे थे और वे 25 गेंदों में 4 रन बनाकर जेसन होल्डर की गेंद को स्टम्प्स पर खेल बैठे। पृथ्वी की शानदार पारी का अंत वॉरिकेन ने किया, वे उनकी गेंद पर कवर्स पर हेटमेयर को कैच दे बैठे। उन्होंने मात्र 53 गेंदों में 11 चौकों और 1 छक्के की मदद से 70 रन बनाए। इस तरह वे भारत की तरफ से पहली दो टेस्ट पारियों में फिफ्टी प्लस स्कोर बनाने वाले आठवें बल्लेबाज बन गए। पृथ्वी ने इसके पूर्व राजकोट में पहले टेस्ट मैच में अपने करियर का शानदार आगाज करते हुए 134 रन बनाए थे। वे दिलावर हुसैन, एजी कृपाल सिंह, सुनील गावस्कर, सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़, सुरेश रैना और रोहित शर्मा के ग्रुप में शामिल हुए। अभी भारत इस सदमे से उबरा भी नहीं था कि गेब्रिएल ने चेतेश्वर पुजारा (10) को विकेटकीपर हेमिल्टन के हाथों कैच करवा दिया।
अब कप्तान विराट और उप कप्तान अजिंक्य रहाणे पर पारी को संभालने की जिम्मेदारी थी लेकिन होल्डर ने विराट को एलबीडब्ल्यू कर मेजबान टीम को करारा झटका दिया। विराट ने रिव्यू लिया लेकिन फैसला उनके खिलाफ ही रहा। उन्होंने 78 गेंदों पर 5 चौकों की मदद से 45 रन बनाए। 162 रनों पर चौथा विकेट गंवाने के बाद रहाणे और पंत पारी को संभालने में जुटे हैं। रहाणे ने बिशू की गेंद पर एक रन लेकर फिफ्टी पूरी की। उन्होंने 122 गेंदों में 4 चौकों की मदद से फिफ्टी पूरी की। इसके बाद पंत ने बिशू की गेंद पर दो रन लेकर अर्द्धशतक पूरा किया। वे 67 गेंदों में 9 चौकों की मदद से यहां तक पहुंचे। रहाणे और पंत पांचवें विकेट के लिए 146 रनों की अविजित भागीदारी कर चुके हैं।
इसके पूर्व वेस्टइंडीज ने 7 विकेट पर 295 रनों से आगे खेलना शुरू किया। दूसरे दिन इंडीज के खाते में अभी 1 रन ही जुड़ा था कि उमेश यादव ने देवेंद्र बिशू (2) को बोल्ड कर दिया। रोस्टन चेज कुलदीप की गेंद पर 1 रन लेकर शतक तक पहुंचे। यह उनका भारत के खिलाफ दूसरा और कुल चौथा टेस्ट शतक है। उन्होंने 176 गेंदों में 7 चौकों और 1 छक्के की मदद से शतक पूरा किया। उमेश ने चेज को बोल्ड कर मेहमानों को करारा झटका दिया। उन्होंने 8 चौके और 1 छक्का लगाया। उमेश ने अगली गेंद पर गेब्रिएल को विकेटकीपर पंत के हाथों झिलवाया। उमेश ने 88 रनों पर 6 विकेट लिए। यह उनके करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन हैं, इससे पहले उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 93 रनों पर 5 विकेट था, जो उन्होंने पर्थ में जनवरी 2012 में किया था। कुलदीप ने 85 रनों पर 3 और अश्विन ने 1 विकेट लिया।
पहले दिन इस तरह गिरे थे विकेट :
पॉवेल और ब्रैथवेट ने इंडीज को अच्छी शुरुआत दिलाई लेकिन अश्विन ने पॉवेल (22) को आउट कर मेहमान टीम को पहला झटका दिया। ब्रैथवेट 14 रन बनाकर कुलदीप यादव की गेंद पर एलबीडब्ल्यू हुए, उन्होंने रिव्यू लिया लेकिन उन्हें लाभ नहीं मिला। इंडीज को तीसरा झटका उमेश यादव ने दिया जब उन्होंने शाई होप (36) को एलबीडब्ल्यू किया, होप ने रिव्यू लिया लेकिन फैसला भारत के पक्ष में ही रहा। शिमरोन हेटमेयर 12 रन बनाकर कुलदीप के शिकार बने। एम्ब्रिस मात्र 18 रन बनाकर कुलदीप की गेंद पर कवर्स पर जडेजा को कैच दे बैठे और इंडीज की आधी टीम 113 रनों के अंदर पैवेलियन लौट गई।
इसके बाद चेज और शेन डॉवरिच ने पारी को संभालने का प्रयास किया और छठे विकेट के लिए 69 रन जोड़े। उमेश ने डॉवरिच (30) को एलबीडब्ल्यू कर इस साझेदारी को तोड़ा। अंपायर ने उन्हें आउट नहीं दिया था लेकिन भारत ने रिव्यू की मदद से उन्हें आउट किया। चेज ने उमेश यादव की गेंद पर 1 रन लेकर फिफ्टी पूरी की। यह उनकी सातवीं टेस्ट फिफ्टी है। उन्होंने 4 चौके और 1 छक्के लगाए। चेज और कप्तान जेसन होल्डर ने सातवें विकेट के लिए शतकीय भागीदारी कर पारी को संभाला। इन्होंने 104 रनों की भागीदारी की। उमेश यादव ने होल्डर (52) को विकेटकीपर रिषभ पंत के हाथों पकड़वाया।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *