कोविड-19 के दौरान ऐसे करें JEE Main Phase-2 की तैयारी: त्रिखा

नई द‍िल्ली। FIITJEE ग्रुप के निदेशक आर एल त्रिखा ने कोविड-19 के दौरान ऐसे करें JEE Main Phase-2 की तैयारी को लेकर अपने सुझाव द‍िए हैं।  विश्वव्यापी महामारी कोविड-19 के दौरान पूरा देश लॉकडाउन पर है, जिसे अब 3 मई 2020 तक बढ़ा दिया गया है। लॉकडाउन के चलते JEE Main Phase-2 की परीक्षा को स्थगित कर दिया गया है। पहले यह परीक्षा 5 अप्रेल से लेकर 11 अप्रेल 2020 के बीच होने वाली थी, लेकिन अब यह परीक्षा अगले नोटिस तक टाल दी गई है। हालांकि, अनुमानित तौर पर यह परीक्षा मई के अंत में हो सकती है तो ऐसे में छात्रों को परीक्षा की तैयारी के लिए कुछ और समय मिल गया है। इस दौरान छात्रों को अपना सारा ध्यान रिवीज़न पर लगाना चाहिए।

ज़ाहिर है सभी छात्र अबतक अपना सिलेबल पूरा करके रिवीज़न में जुटे होंगे। कोविड-19 के असर को कम करने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी है लेकिन इससे छात्रों को निराश होन की आवश्यकता नहीं है। इस समय का उपयोग करते हुए छात्रों को परीक्षा से संबंधित उचित रणनीति तैयार करनी चाहिए। इस प्रकार वे परीक्षा के लिए पूरी तरह से तैयार हो जाएंगे।

उचित शिड्यूल बनाएं: इस पूरे समय में रिवीज़न तैयारी का सबसे अहम हिस्सा होना चाहिए। एक बेहतरीन शिड्यूल की मदद से आपके प्रदर्शन का परिणाम और बेहतर हो सकता है। इस दौरान रट्टा मारने की बजाय सभी विषयों को अच्छे से समझने की कोशिश करें। हालांकि, कोचिंग क्लास न जा पाने के कारण छात्रों के लिए तैयारी कर पाना थोड़ा मुश्किल हो रहा होगा लेकिन ऐसे में चिंता करने से आपको कुछ हासिल नहीं होगा। बेहतर होगा कि आप सकारात्मक सोंच के साथ तैयारी पर ध्यान लगाएं। एक उचित शिड्यूल के साथ आप समय का सही उपयोग कर पाएंगे।

ऑनलाइन क्लासेस लें: फिटजी छात्रों को ऑनलाइन क्लासेस की सुविधा दे रहा है, जहां उन्हें हर सेशन के नोट्स, एक्सपर्ट की सलाह और मॉक टेस्ट के साथ परीक्षा के लिए तैयार किया जा रहा है। फिटजी के माईपैट नाम के पॉर्टल की मदद से छात्र घर पर रहते हुए बिना किसी परेशानी के अपनी परीक्षा की तैयारी जारी रख सकते हैं।

3 टियर रिवीज़न: इस समय आपका सारा ध्यान रिवीज़न पर होना चाहिए। किसी भी चीज़ को लंबे समय के लिए याद रखने के लिए 3 टियर रिवीज़न एक लोकप्रिय विकल्प है। अगर आप पढ़े हुए टॉपिक को उसी दिन रिवाइज़ करते हैं तो आपको इसे याद रखने में आसानी होगी। वहीं, अगर आपने आज कोई टॉपिक पढ़ा है लेकिन उसका रिवीजन 2-3 दिन बाद करते हैं तो आपको उसे समझने और याद रखने में मुश्किल होगी। 3 टियर रिवीज़न मेथड के अनुसार, टॉपिक का रिवीज़न उसी दिन करें जिस दिन पढ़ा है, फिर 3 दिनों के बाद करें और फिर एक बार हफ्ते के अंत में करें।

जरूरी फॉर्मुले याद करें: रिवीज़न के समय सभी फॉर्मुलों को अच्छे से याद कर लें। इस प्रकार परीक्षा में आप सवालों का जवाब आसानी से दे पाएंगे। चूंकि, फिजिक्स और गणित में पूछे जाने वाले अधिकांश सवाल फॉर्मुला-आधारित होते हैं इसलिए अच्छे अंकों के लिए सभी फर्मुले अच्छे से याद रखें।

मॉक टेस्ट: मॉक टेस्ट आपको कमज़ोर और मजबूत पहलुओं से वाकिफ कराते हैं, इसलिए इसे तैयारी में शामिल करना बेहद जरूरी होता है। अपनी तैयारी का मूल्यांकन करने के लिए मॉक टेस्ट सीरीज की मदद लें।

प्रेरित रहें और तैयारी के बीच ब्रेक लेते रहें: लगातार लंबे समय तक बैठकर तैयारी न करें। एक घंटा रिवीज़न करने के बाद कुछ देर के लिए आराम करें या कोई मनोरंजक काम करें। चीजों को अच्छे से समझने के लिए तैयारी के बीच-बीच में ब्रेक लेना आवश्यक होता है। बस इस बात का ख्याल रखें कि रिवीज़न के दौरान सारा ध्यान तैयारी पर होना चाहिए। इस दौरान इधर-उधर की बातों पर बिल्कुल ध्यान न दें।

कमज़ोर पहलुओं पर ध्यान दें: जेईई मेन फेज़ 1 में आपको जिस सेक्शन में सबसे ज्यादा समस्या आई हो, उसपर काम करें। बिना वक्त बर्बाद किए इसपर अधिक से अधिक काम करें जिससे फेज-2 में आप हर सेक्शन को आसानी से हल सकें। कहां पर कमी है, इस बात का मूल्यांकन कर प्रदर्शन में सुधार संभव है।

सही रणनीति और टाइम मैनेजमेंट: परीक्षा में अच्छी रैंक पाने में सही रणनीति और टाइम मैनेजमेंट एक अहम भूमिका निभाते हैं। यह सारा समय रिवीज़न, स्पीड, कॉन्सेप्ट, लिखने का तरीका, जवाब में स्पष्टता आदि की तैयारी पर लगाएं। कमज़ोर पहलुओं में सुधार लाएं। अपने बेहतरीन प्रदर्शन के साथ परीक्षा को क्रैक करने में सफल रहें।

  • Legend News
50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *