अब नई गाइडलाइंस के तहत होगा Homeguards को भुगतान

लखनऊ। राज्य सरकार ने Homeguards के ड्यूटी भत्ते भुगतान के लिए नई गाइडलाइंस जारी कर दी हैं। यह बदलाव नोएडा में Homeguards के मस्टर रोल में फर्जी ड्यूटी दिखाकर भुगतान करवाने का मामला सामने आने के बाद किया गया है।

प्रदेश सरकार ने होमगार्डों के ड्यूटी भत्ते भुगतान के लिए नई गाइडलाइंस जारी कर दी हैं। होमगार्डों की फर्जी ड्यूटी दिखाकर वेतन हड़पने पर मचे बवाल के बाद पूरे प्रदेश में सैलरी ऑडिट कराया जाएगा साथ्ज्ञ ही आज नई गाइडलाइंस जारी कर दी गई है।

गाइडलाइंस में भुगतान से पहले अलग-अलग स्तर पर सत्यापन होगा। इसके बावजूद अगर गड़बड़ी सामने आई तो जिम्मेदारों की भूमिका तय कर कार्रवाई की जाएगी।

प्रमुख सचिव (होमगार्ड) अनिल कुमार की तरफ से डीजी होमगार्ड को दिए गए निर्देश के मुताबिक होमगार्डों के अक्टूबर या उससे पहले का बकाया भुगतान कई स्तर से सत्यापन के बाद ही जारी किया जाएगा। ड्यूटी के मस्टर रोल के सभी पन्नों को ड्यूटी स्थल के प्रभारी अपने नाम व पदनाम की मुहर के साथ प्रमाणित करेंगे। इसकी एक कॉपी ड्यूटी लगवाने वाले विभाग में सुरक्षित रखी जाएगी।

जिला कमांडेंट सभी होमगार्डों का सत्यापन करवाने के बाद इसकी रिपोर्ट मंडलीय कमांडेंट को देंगे। मंडलीय कमांडेंट के स्तर से सभी दस्तावेज और जानकारियों की समीक्षा के बाद भुगतान की प्रक्रिया आगे बढ़ेगी। किसी तरह की गड़बड़ी सामने आती है तो मंडलीय कमांडेंट इसकी जानकारी डीजी होमगार्ड और शासन को देंगे।

गौरतलब है कि प‍िछले द‍िनों जिलों में तैनात होमगार्ड विभाग के अफसरों पर फर्जीवाड़े को लेकर आरोप लगा था, जिस पर प्रशासन ने सख्त रुख अपनाया । गौतमबुद्ध नगर (नोएडा) में दो महीने की जांच में घोटाले की जांच के लिए शासन की तीन सदस्यीय कमेटी नोएडा गई थी जिससे10 दिन में रिपोर्ट मांगी गई है।

होमगार्ड विभाग के प्रमुख सचिव अनिल कुमार ने आशंका जताई कि अगर एक जिले में इस तरह की गड़बड़ी हो रही है, तो अन्य जिलों में भी ऐसा संभव है। उन्होंने बताया कि डीजी होमगार्ड के सीनियर स्टाफ अफसर सुनील कुमार, मिर्जापुर के वरिष्ठ जिला कमांडेंट शैलेंद्र प्रताप सिंह और बागपत की जिला कमांडेंट नीता भारती को जांच के लिए नोएडा भेजा गया है। यह टीम पता लगाएगी कि पूरा फर्जीवाड़ा किस तरह से किया गया। मॉडस अपरेंडी क्या थी? इसमें कौन-कौन लोग शामिल थे?

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *