नगालैंड मामले पर गृह मंत्री अमित शाह ने संसद में दी पूरे घटनाक्रम की जानकारी

नगालैंड में 16 नागरिकों की मौत के सिलसिले में गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को संसद में बयान दिया। उन्‍होंने लोकसभा में पूरे घटनाक्रम की जानकारी देते हुए कहा कि फिलहाल स्थिति तनावपूर्ण मगर नियंत्रण में है। शाह ने अपने बयान में कहा कि उग्रवादियों के मूवमेंट की सूचना पर सेना ने जाल बिछाया था। उसी दौरान वहां से एक वाहन गुजरा। रोके जाने के बावजूद वाहन नहीं रुका तो सुरक्षा बलों ने फायरिंग की, जिसमें 6 नागरिक मारे गए। बाद में हंगामा कर रहे स्‍थानीय ग्रामीणों को तितर-बितर करने के लिए गोलियां चलाई गईं जिसमें और नागरिक मारे गए।
नगालैंड में कब, क्‍यों और कैसे हुआ, शाह ने संसद को बताया
गृह मंत्री अमित शाह ने नगालैंड में सुरक्षा बलों के हाथों 16 नागरिकों की मौत के संबंध में बयान जारी किया। शाह ने लोकसभा में कहा, ‘भारतीय सेना को नगालैंड में तिरु गांव के पास उग्रवादियों की आवाजाही की सूचना मिली थी। इसके आधार पर कमांडो दस्‍ते ने 4 दिसंबर की शाम को एम्‍बुश लगाया था। इस दौरान एक वाहन वहां से गुजरा। उसे रुकने का इशारा और प्रयास किया गया। रुकने बजाय वाहन वहां से तेजी से निकले की कोशिश करने लगा। इस आशंका पर कि वाहन में संदिग्‍ध विद्रोही जा रहे थे, वाहन पर गोली चलाई गई जिससे वाहन में सवार 8 व्‍यक्तियों में से 6 की मृत्‍यु हुई। बाद में यह गलत पहचान का मामला पाया गया। जो दो लोग घायल हुए थे, उन्‍हें सेना ने इलाज हेतु नजदीकी अस्‍पताल में ले जाया गया।’
शाह ने बताया कि ‘यह समाचार प्राप्‍त होने के बाद स्थानीय ग्रामीणों ने सेना की टुकड़ी को घेर लिया। दो वाहनों को जला दिया और उन पर हमला किया। इसके परिणाम स्‍वरूप सुरक्षा बल के एक जवान की मृत्‍यु हो गई तथा कई अन्‍य जवान घायल हो गए। अपनी सुरक्षा में तथा भीड़ को तितर-बितर करने के लिए सुरक्षा बलों को गोली चलानी पड़ी जिससे सात और नागरिकों की मृत्‍यु हो गई तथा कुछ और लोग घायल हो गए।’ उन्‍होंने कहा कि अभी स्थिति तनावपूर्ण मगर नियंत्रण में बनी हुई है।
कांग्रेस ने लोकसभा में उठाया मुद्दा
लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने नगालैंड में हुई फायरिंग के मामले को उठाया। लोकसभा की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अधीर रंजन ने नगालैंड में असम राइफल्स के जवानों की फायरिंग में बेकसूर लोगों के मारे जाने के मुद्दे को उठाया। उन्होंने कहा कि गृह मंत्री को सदन में बयान देना चाहिए।
केंद्रीय मंत्री अमित शाह देंगे बयान
विपक्ष की मांग पर संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी ने इस पर कहा कि सरकार इस घटना को लेकर बेहद संवेदनशील है। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर सदन में गृह मंत्री अमित शाह सरकार की तरफ से बयान देंगे।
राज्यसभा में उठा मुद्दा
राज्यसभा में भी कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खडगे ने इस घटना को उठाया। खडगे ने कहा कि यह बेहद दुखद घटना है। हम इस मुद्दे पर गृह मंत्री के बयान की मांग करते हैं। कृपया आप इस मुद्दे पर निर्देश दें। इस पर सभापति वेंकैया नायडू ने कहा कि कई सभासदों ने इस मुद्दे को लेकर सवाल उठाए हैं। मेरी रक्षा मंत्री और गृह मंत्री से बात हुई है। गृह मंत्री ने उस दुर्भाग्यपूर्ण घटना पर बयान देने की बात कही है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *