हिंदुस्तान यूनिलीवर ने खरीदी Horlicks बनाने वाली कंपनी

नई दिल्‍ली। देश की सबसे बड़ी कन्ज्यूमर गुड्स कंपनी हिंदुस्तान यूनिलीवर लि. (एचयूएल) ने Horlicks बनाने वाली कंपनी ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन (जीएसके) कन्ज्यूमर इंडिया के अधिग्रहण का ऐलान किया। इसके लिए एचयूएल को 31 हजार 700 करोड़ रुपये चुकाने होंगे। यह देश के कन्ज्यूमर गुड्स मार्केट की सबसे बड़ी डील है।
इस डील में जीएसके कन्ज्यूमर इंडिया के प्रत्येक शेयर के मुकाबले एचयूएल के 4.39 शेयर रखे गए। अब जीएसके के न्यूट्रिशन बिजनेस के पूरे ऑपरेशन के साथ-साथ उसके सेंसोडाइन जैसे ओरल केयर ब्रैंड्स और ईनो, क्रॉसीन समेत तमाम ओवर-द-काउंटर (ओटीसी) का डिस्ट्रीब्यूशन कॉन्ट्रैक्ट भी एचयूएल के अधीन आ गया।
एचयूएल के चेयरमैन संजीव मेहता ने कहा, ‘जीएसकेसीएच इंडिया के साथ प्रस्तावित रणनीतिक विलय के साथ ही हम अपना पोर्टफोलियो नई कैटिगरी के बड़े ब्रैंड्स में बढ़ाएंगे ताकि अपने ग्राहकों की पोषण संबंधी जरूरतों को पूरा कर सकें।’ उन्होंने आगे कहा, ‘हमारा फूड एवं रीफ्रेशमेंट बिजनस बढ़कर 10 हजार करोड़ रुपये तक पहुंच जाएगा और हम देश में इस क्षेत्र की सबसे बड़ी कंपनियों में शुमार होंगे।’
गौरतलब है कि Horlicks प्रथम विश्वयुद्ध (1914-18) की समाप्ति के बाद ब्रिटिश आर्मी के साथ भारत आया था। ब्रिटिश इंडियन आर्मी के सैनिक इसे डायटरी सप्लीमेंट के तौर पर लिया करते थे। उसके बाद Horlicks ब्रैंड की मार्केटिंग समृद्ध भारतीय परिवारों के पेय पदार्थ के रूप में की गई और फिर इसे बच्चों के लिए जरूरी पोषण के तौर पर पेश किया जाने लगा।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *