Roerich आर्ट गैलरी को विकसित करेगी हिमाचल सरकार

शिमला। इंटरनेशनल Roerich मेमोरियल ट्रस्ट, रूस और भारत के बीच विश्वास और शांतिपूर्ण संबंधों को मजबूत करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। साथ ही यह कला एवं संस्कृति के प्रमुख केंद्र के अलावा सैलानियों का मुख्य आकर्षण भी है।
ऐसे में इसे और आकर्षक बनाने के लिए Roerich आर्ट गैलरी को हिमाचल सरकार हर संभव सहायता प्रदान करेगी। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने यह बात कही।
उन्होंने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमंत्री कार्यकाल के दौरान ट्रस्ट को दो करोड़ रुपये की राशि प्रदान की गई थी ताकि न्यास अपनी गतिविधियों को और मजबूत कर सके।
रोरिक हाउस की बहाली को शामिल करके सृजित किया जाएगा
बोर्ड की बैठक में निर्णय लिया गया कि अंतर्राष्ट्रीय रोरिक मेमोरियल ट्रस्ट परिसर को रोरिक विरासत के रूप में विकसित करने के साथ-साथ कलाकारों, विद्वानों, विशेषज्ञों के लिए विश्राम गृहों का निर्माण किया जाएगा। यह भी निर्णय लिया गया कि रोरिक मेमोरियल संग्रहालय परिसर Roerich हाउस की बहाली
को शामिल करके सृजित किया जाएगा। बोर्ड ने बैठक में इंटरनेशनल रोरिक मेमोरियल ट्रस्ट गैलरी/संग्रहालयों में प्रवेश शुल्क की दरें तथा हेलेना रोरिक कला अकादमी में प्रवेश शुल्क और मासिक शुल्क की दरें निर्धारित करने का भी निर्णय लिया। बैठक में भारत में रूस के राजदूत निकोले कुदाशेव के अलावा वन
मंत्री गोविंद ठाकुर, मुख्य सचिव बीके अग्रवाल, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं एसीएस श्रीकांत बाल्दी, राष्ट्रीय Roerich समिति के अध्यक्ष एलेग्जेंडर लॉस्युकोव, ट्रस्टी अशोक ठाकुर और एसएस चंदेल उपस्थित रहे। बैठक का संचालन भाषा संस्कृति सचिव अरुण कुमार शर्मा ने किया।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *