स्वास्थ्य मंत्री का सुझाव: वैक्सीन की दोनों डोज लेने वालों के यहां स्‍टीकर लगाएं

देश में युद्धस्तर पर कोरोना टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने मंगलवार को गैर-सरकारी संगठनों, नागरिक समाज संगठनों और विकास भागीदारों के साथ बैठक की। इस दौरान उन्होंने ‘हर घर दस्तक’ कोविड टीकाकरण अभियान को पूरे देश में ले जाने के लिए कई अहम सुझाव दिए। इसके साथ ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने सुझाव दिया कि कोरोना रोधी वैक्सीन के दोनों टीके लगवा चुके लोगों को पूर्ण टीकाकरण का स्टीकर दिया जाना चाहिए। यह स्टीकर वे उनके घरों पर चस्पा करें ताकि अन्य परिवारों को भी टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित करने में मदद मिले। मंडाविया ने कहा कि भारत के टीकाकरण कार्यक्रम जैसे विशाल अभ्यास के लिए ‘जन-भागीदारी’ (लोगों की भागीदारी) बहुत आवश्यक है।
बैठक में मंत्री ने कहा कि देश में अब तक 80 फीसद आबादी को कोरोना के टीके की पहली खुराक दी जा चुकी है और 40 फीसद आबादी को दूसरी खुराक दी गई है। मंडाविया ने कहा कि उन्होंने टीकाकरण की पहुंच और कवरेज को आगे बढ़ाने में सरकार की मदद करने वाले विभिन्न हितधारकों के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत की है। स्वास्थ्य मंत्री ने दोनों खुराकों के 100 फीसद के साथ कोरोना टीकाकरण अभियान को तत्काल पूरा करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि हम सभी को यह सुनिश्चित करना होगा कि हर किसी का टीकाकरण हो।
स्वास्थ्य मंत्री ने बैठक में भागीदारों को सामुदायिक जागरूकता पैदा करने और टीकाकरण अभ्यास को ‘जन आंदोलन’ (जन आंदोलन) में बदलने की दिशा में काम करने का आह्वान किया।
मंडाविया ने भागीदारों को उनकी क्षमता के अनुसार एक क्षेत्र की पहचान करने और वहां के सभी निवासियों के बीच संतृप्त टीकाकरण का सुझाव दिया। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के बयान में कहा गया कि उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि आबादी के बीच टीके को बढ़ावा देने के लिए परिवारों को टीकों की दोनों खुराक पूरी होने की सूचना देने वाले स्टिकर दिए जाएं।
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री की मौजूदगी में हुई बैठक में गैर सरकारी संगठनों और नागरिक समाज संगठनों ने भी टीकाकरण की संतृप्ति सुनिश्चित करने के लिए उठाए जा रहे नए कदमों को साझा किया। देश में कोरोना के टीकाकरण की बात करें तो अब तक कुल 113 करोड़ से ज्यादा डोज लगाई जा चुकी है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *