प्रदेश में एंबुलेंस का चक्‍का जाम, हाथरस में एंबुलेंसकर्मियों ने कि‍या प्रदर्शन

हाथरस। उत्तर प्रदेश में आज सोमवार को सरकारी 102, 108 एम्बुलेंस स्टाफ ने हड़ताल कर दी है। हाथरस में भी प‍िछले तीन दिन से जिला अस्पताल की इमरजेंसी के सामने स्वास्थ्य विभाग के 108 102 एएलएस एंबुलेंस कर्मचारियों का समायोजन किए जाने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन कर रहे एंबुलेंसकर्म‍ियों ने अपनी मांगें पूरी ना क‍िए जाने पर आज से चक्‍का जाम कर एंबुलेंसों को स्‍थानीय मंडी समिति में खड़ा कर द‍िया है।

इस संबंध में संगठन के जिलाध्यक्ष नागेंद्र यादव ने बताया कि आज 26 जुलाई से पूरे प्रदेश की एम्बुलेंस खड़ी करके कार्य बहिष्कार शुरू कर द‍िया गया है। इसील‍िए जनपद की सभी सरकारी एंबुलेंस और उनके कर्मचारी अपनी अपनी एंबुलेंसों को मंडी समिति में खड़ा करके चक्का जाम कर दिया है। उन्‍होंने चेतावनी दी क‍ि अभी तो एंबुलेंसकर्मियों ने चक्का जाम व धरना प्रदर्शन क‍िया है परंतु मांग पूरी ना होने पर ये आंदोलन बड़ा रूप ले सकता है।

गौरतलब है कि‍ जिले में संचालित स्वास्थ्य विभाग के 108, 102 एएलएस एंबुलेंस कर्मचारियों का समायोजन किए जाने की मांग को लेकर तीसरे दिन भी धरना-प्रदर्शन चल रहा था, आरोप लगाया गया कि एएलएस के कर्मचारियों को कंपनी बदलने पर हटाया जा रहा है, जबकि ऐसा नहीं होना चाहिए। कोरोना काल में कोरोना योद्धा की भूमिका में एंबुलेंस कर्मचारी सबसे आगे रहे। एम्बुलेंस कर्मचारियों को ठेकेदारी से मुक्त किए जाने की मांग भी की जा रही है। वहीं कोरोना काल में जान गंवाने वालों के आश्रितों के परिवार को बीमा राशि दिए जाने की भी मांग की गई है।

एंबुलेंस कर्मचारी संघ के ज‍िलाध्‍यक्ष नागेंद्र यादव ने बताया कि‍ ज‍िस निजी कंपनी के अधीन एंबुलेंस कर्मचारी काम कर रहे हैं, उनकी 6 सूत्रीय मांगे हैं जिनको पूरी करना सरकार का दायित्व है। पिछले काफी समय से अपनी मांगों को लेकर लगातार एंबुलेंस कर्मी धरना प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन उनकी मांगों को लेकर कोई सुनवाई नहीं की गई जिससे आक्रोशित होकर एंबुलेंस कर्मियों ने प्रदेश नेतृत्व के निर्देश पर आज चक्का जाम कर प्रदर्शन शुरू कर दिया है।

एंबुलेंस कर्मियों के इस चक्का जाम से हाथरस जनपद में एंबुलेंस सेवा पूरी तरह से ठप्प पड़ गई है जिसकी वजह से मरीजों को तमाम तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

क्‍या है मामला – 

जीवीकेएएमआरआई द्वारा एएलएस, 108 और 102 एंबुलेंस सेवा का संचालन किया जा रहा था। जिले में 108 एंबुलेंस सेवा 35, 102 एंबुलेंस सेवा 44 और एएलएस दो हैं। मगर, अब एएलएस का संचालन अन्य कंपनी को सौंप दिया गया है। नई कंपनी द्वारा एएलएस के चालक और मेडिकल टेक्नीशियन को प्रशिक्षित न होने पर निकाला जा रहा है, इसके विरोध में प्रदेश भर में 108 और 102 एंबुलेंस सेवा ठप कर दी गई है।

– नीरज चक्रपाण‍ि,
हाथरस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *