हरियाणा: कोरोना की आड़ में मनमानी करने वाले निजी अस्‍पतालों का ऑडिट होगा

फरीदाबाद। कोरोना की आड़ में मरीजों की जेब और जान से खिलवाड़ करने वाले निजी अस्पतालों और डॉक्टरों पर अब सरकारी चाबुक चलेगा। अस्पतालों के रेकॉर्ड का ऑडिट होगा और मरने वालों के तीमारदारों व ठीक होकर गए मरीजों से पूछताछ होगी। रिकवरी का फार्मूला क्या होगा, इस बारे में जल्द ही आदेश जिला स्तर अधिकारियों को पहुंचेंगे। जिला स्तरीय कमेटी जांच के बाद ली गई अधिक राशि को वापस करवाएगी। इससे पलवल और फरीदाबाद के लोगों को भी रकम वापस मिलने की उम्मीद जगी है। दोनों जिलों में 6 अस्पतालों के खिलाफ शिकायतें की जा चुकी हैं।
सीएम मनोहरलाल खट्टर के विशेष सचिव डॉ. अमित अग्रवाल ने बताया कि निजी अस्पतालों ने इलाज के नाम पर कोविड मरीजों से सरकार की तरफ से निर्धारित राशि से अधिक राशि वसूल की। इस बारे में लगातार स्वास्थ्य विभाग और सरकार के पास शिकायतें आईं। पलवल में भी चार अस्पतालों के बारे में शिकायतें मिली हैं। पंचकुला से लेकर पलवल तक कई अस्पतालों की शिकायत स्वास्थ्य विभाग के पास हैं। जिनकी शिकायत हैं, उनकी जांच होगी। प्रदेश में जितने भी बड़े अस्पताल हैं सभी की ऑडिट करवाया जाएगा। ऑडिट में जहां भी कोविड रोगियों से अधिक रुपये वसूल करना पाया जाएगा वहीं मरीज को राशि वापस करवाई जाएगी। प्रदेश के सभी निजी अस्पतालों का स्पेशल ऑडिट कर निर्धारित रेट स्लिप अस्पताल के गेट पर चस्पा करने के आदेश दिए जाएंगे।
पलवल में गैलेक्सी व अपेक्स अस्पताल सहित अनेक अस्पतालों से निर्धारित राशि से अधिक बिल बनाए। मरीजों की जान बचाने के लिए अधिक राशि का भुगतान किया। इस मामले को लेकर अगले सप्ताह जिले के सभी डिप्टी कमिश्नर और सीएमओ को आदेश भेज दिए जाएंगे। इलाज में कहीं चूक होना पाया जाता है डॉक्टरों के खिलाफ कठोर कानूनी कार्यवाही भी की जाएगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *