27 फरवरी से होगी हरिद्वार कुंभ की शुरुआत

देहरादून। हरिद्वार कुंभ (Haridwar Kumbh मेले की शुरुआत 27 फरवरी से होनी तय की गई है। जल्द ही इसकी अधिसूचना जारी कर दी जाएगी। उधर, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से कुंभ की एसओपी जारी होने के बाद इंतजामों की कसरत तेज हो गई। सोमवार को शासन स्तर पर कई बैठकों का आयोजन किया गया।

कुंभ की शुरुआत को लेकर लगातार कयासबाजी का दौर चल रहा है। इस बीच सरकार ने कुंभ के आयोजन की तिथि तय कर दी है। शहरी विकास निदेशक विनोद कुमार सुमन ने बताया कि हरिद्वार कुंभ की शुरुआत 27 फरवरी से होगी। फिलहाल यह तय किया गया है कि 30 अप्रैल तक कुंभ चलेगा लेकिन इस बीच अगर केंद्र सरकार से मिले पत्र पर विचार किया गया तो अवधि पर अंत समय तक फैसला लिया जा सकता है।

जल्द ही इसकी अधिसूचना जारी होगी 

कुंभ मेले के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने एसओपी (स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रॉसिजर) जारी कर दी है। इसके तहत कुंभ में आने वालों के लिए 72 घंटे के भीतर की कोविड आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट लानी जरूरी होगी। इसके बिना कुंभ मेले में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। वहीं राज्य सरकार की जिम्मेदारियां भी बढ़ा दी गई हैं।

एसओपी के मुताबिक कुंभ मेले में केवल उन्हीं स्वास्थ्यकर्मियों की ड्यूटी लगाई जाएगी, जिन्हें कोविड से बचाव की वैक्सीन लग चुकी है। कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए कोविड की नेगेटिव रिपोर्ट तो अनिवार्य की ही गई है साथ ही श्री अमरनाथ यात्रा की तर्ज पर उन्हें अपने शहर के निकटतम स्वास्थ्य केंद्र, जिला अस्पताल, मेडिकल कॉलेज की ओर से जारी मेडिकल प्रमाण पत्र भी लाना होगा। इसके अलावा उन्हें कुंभ में आने से पहले उत्तराखंड सरकार की वेबसाइट पर पंजीकरण भी कराना होगा।

स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रॉसिजर का करना होगा पालन
कुंभ मेले में सभी के लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा। राज्य सरकार सस्ती दरों पर मेले में मास्क उपलब्ध कराएगी। बिना मास्क पकड़े जाने पर राज्य सरकार की एजेंसियां नियमानुसार जुर्माना लगाएंगी
राज्य सरकार को 65 वर्ष से अधिक के बुजुर्गों, गर्भवती महिलाओं और 10 साल से कम उम्र के बच्चों को कुंभ मेले में न जाने के लिए प्रेरित करना होगा
राज्य सरकार के ऐेसे कर्मचारी जो बुजुर्ग हैं और गर्भवती महिलाओं आदि को कोई ऐसी ड्यूटी नहीं दी जाएगी, जिसमें वह सीधे जनता का सामना करें
सभी सार्वजनिक स्थानों पर कम से कम छह फीट की दूरी बनाकर चलना होगा
मेले के दौरान या तो थोड़ी-थोड़ी देर बाद अपने हाथ साबुन से धुलने होंगे या फिर हैंड सैनिटाइजर साथ रखना होगा। इसके लिए राज्य सरकार को सार्वजनिक स्थानों पर हाथ धोने और सैनिटाइजर की व्यवस्था करनी होगी
कुंभ मेला स्थल पर कहीं भी थूकना प्रतिबंधित होगा
सभी को अपने मोबाइल में आरोग्य सेतु एप इंस्टॉल करना होगा

– Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *