एलसीए Tejas के हथियार वाले संस्करण का निर्माण करेगी एचएएल

LCA Tejas के वास्तविक अंतिम संचालन मंजूरी व्यापक परीक्षण के बाद ही दी जाएगी

नई दिल्‍ली। भारतीय वायु सेना के लिए हल्के लड़ाकू विमान (एलसीए) Tejas के हथियार वाले संस्करण के निर्माण के लिए हिन्दुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) को मंजूरी मिल गई है।

कंपनी के प्रवक्ता के अनुसार इस साल के अंत तक ऐसा पहला विमान तैयार कर लिया जाएगा। प्रवक्ता ने बताया कि सैन्य उड़ान योग्यता और प्रमाणन केंद्र (सीआईएमआईएलसी) ने अंतिम संचालन मंजूरी (एफओसी) कॉन्फिगरेशन के तहत Tejas एमके1 का उत्पादन शुरू करने के लिए हरी झंडी दे दी है।

एचएएल प्रवक्ता ने कहा, “हालांकि, वास्तविक अंतिम संचालन मंजूरी व्यापक परीक्षण के बाद ही दी जाएगी।” उन्होंने बताया कि अंतिम संचालन मंजूरी प्राप्त करने के लिए विमान में हवा में फिर से ईंधन भरे जाने, एईएसए रडार, इलेक्ट्रॉनिक वारफेयर स्वीट, बम एवं हथियारों के विभिन्न प्रकार समेत युद्ध के वक्त जरूरी अन्य क्षमताएं होनी चाहिए।

उन्होंने बताया कि सीआईएमआईएलसी ने तेजस को डिजाइन एवं विकसित करने वाली एरोनॉटिकल डेवलपमेंट एजेंसी (एडीए) द्वारा जमा कराए गए डिजाइन दस्तावेजों को स्वीकार कर लिया है। सीआईएमआईएलसी सैन्य विमानों एवं वायु प्रणालियों को प्रमाणित करने वाली डीआरडीओ की एक प्रयोगशाला है।

एचएएल प्रवक्ता ने बताया, “भारतीय वायु सेना ने 40 एलसीए विमानों का ऑर्डर दिया था। इनमें से 20 एफओसी कॉन्फिगर्ड होंगे। वहीं, अन्य 20 शुरुआती संचालन मंजूरी (आईओसी) कॉन्फिगर्ड होंगे।” पहला युद्धक विमान कब तक तैयार होगा यह पूछने पर उन्होंने कहा, “हमारा मकसद इसकी आपूर्ति एफओसी कनफिगरेशन के साथ साल के अंत तक – अक्टूबर से दिसंबर के बीच करने की है।”

-एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *