इथोपिया में बंदूकधारियों का हमला, 100 से ज्‍यादा लोगों की मौत

अदिस अबाबा। इथोपिया में बंदूकधारियों के भीषण हमले में 100 से ज्‍यादा लोग मारे गए हैं। देश के मानवाधिकार आयोग ने बताया कि यह घातक हमला बुलेन काउंटी के बेकोजी गांव में हुआ है। जातीय हिंसा से जूझ रहे इस इलाके में लोग अपने घरों को छोड़कर भाग रहे हैं। अफ्रीका के दूसरे सबसे अधिक आबादी वाले देश इथोपिया में वर्ष 2018 में प्रधानमंत्री अबिय अहमद के सत्‍ता में आने के बाद से ही लगातार हिंसा हो रही है।
प्रधानमंत्री अहमद ने लोकतांत्रिक सुधार किए हैं जिससे उनकी क्षेत्रीय प्रतिद्वंदी गुटों पर पकड़ कम हो गई है। इथोपिया में अगले साल चुनाव होने वाले हैं और जमीन, सत्‍ता तथा प्राकृतिक संसाधनों को लेकर तनाव बढ़ता ही जा रहा है।
उधर, देश के दूसरे हिस्‍से में इथोपिया की सेना विद्रोहियों से जूझ रही है। इथोपिया की सेना और विद्रोहियों के बीच में तिगरय इलाके में पिछले 6 सप्‍ताह से संघर्ष चल रहा है।
सोमालियाई इस्‍लामिक आतंकियों का खतरा
सेना और विद्रोहियों में संघर्ष से 9 लाख 50 हजार लोग विस्‍थापित हो गए हैं। उधर, सेना को विद्रोहियों को कुचलने के लिए तैनात कर देने के बाद अब आशंका जताई जा रही है कि अन्‍य अशांत इलाकों में सुरक्षा को लेकर खालीपन पैदा हो सकता है। इथोपिया ओरोमिया इलाके में उग्रवाद का सामना कर रहा है और लंबे समय से पूर्वी सीमा पर सोमालियाई इस्‍लामिक आतंकियों के खतरे का सामना कर रहा है।
एक वरिष्‍ठ सुरक्षा अधिकारी गाशू दुगाज ने कहा कि उन्‍हें इस ताजा हमले की सूचना मिली है और वे हमलावरों की पहचान करने का प्रयास कर रहे हैं। साथ ही मारे गए लोगों की भी पहचान की जा रही है। यह इलाका कई जातीय गुटों का घर है जिसमें गुमुज लोग भी शामिल हैं। गुमुज लोगों की शिकायत है कि हाल के दिनों में पास के अमहारा इलाके से किसान और बिजनसमैन उनके इलाके में आने लगे हैं और वे उपजाऊ जमीन पर कब्‍जा कर रहे हैं। उधर, अमहारा लोगों का दावा है कि कुछ जमीन उनकी है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *