ओमीक्रोन के मद्देनजर राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए गाइडलाइन्स जारी

भारत समेत दुनिया भर के 29 देशों में कोरोना वायरस का नया वेरिएंट ओमीक्रोन पहुंच चुका है। दुनियाभर में इस संक्रमण के करीब 400 मामले आ चुके हैं। पिछले एक हफ्ते में दुनिया में 70% मामले यूरोप से आए हैं। भारत में भी कोरोना के दो मामलों की पुष्टि हो चुकी है। केंद्र सरकार ने ओमीक्रोन संक्रमण को देखते हुए राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के लिए गाइडलाइन्स जारी की है।
गृह मंत्रालय ने कोरोना से जुड़ी गाइलाइन्स की समय सीमा को बढ़ाकर अब 31 दिसंबर तक कर दिया है। ऐसे में जानते हैं कि ओमीक्रोन के खतरे से निपटने के लिए किस राज्य में क्या-क्या कदम उठाए जा रहे हैं।
कर्नाटक: 7 दिन का क्वारंटीन फिर जीनोम सिक्वेंसिंग
कर्नाटक में जोखिम वाले देशों से आने या जाने वाले यात्रियों को एयरलाइनों द्वारा सूचित किया जाएगा कि वे आगमन के बाद टेस्ट कराएंगे। यदि रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो उन्हें अलग कर दिया जाएगा। जोखिम वाले देशों के सभी यात्रियों को सात दिनों के लिए होम क्वारंटाइन से गुजरना होगा। इसके बाद आठवें दिन फिर से टेस्ट किया जाएगा। यदि परिणाम पॉजिटिव आते हैं, तो नमूने जीनोमिक सिक्वेंसिंग के लिए भेजे जाएंगे। ऐसे पॉजिटिव मामलों के संपर्कों को संस्थागत क्वारंटाइन या कड़ाई से निगरानी वाले होम क्वारंटाइन के तहत रखा जाएगा। पांच साल से कम उम्र के बच्चों को आगमन से पहले और बाद के टेस्ट दोनों से छूट दी गई है।
महाराष्ट्र: तीन बार होगा आरटी-पीसीआर टेस्ट
कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन को देखते हुए हाई रिस्क देशों से आने वाले सभी यात्रियों के लिए RT-PCR टेस्ट अनिवार्य है। इसके अलावा प्रभावित देशों से आने वालों लोगों के लिए 7 दिन का इंस्टीट्यूशन क्वारंटीन अनिवार्य है। विदेश से आने के दूसरे, चौथे और सातवें दिन RT-PCR टेस्ट कराना अनिवार्य है। आखिरी टेस्ट नेगेटिव आने पर यात्री को 7 दिन होम क्वारंटीन रहना होगा। बिना जोखिम वाले देशों से आने वालों के लिए भी आने पर आरटी-पीसीआर और 14 दिन का होम क्वारंटीन अनिवार्य है।
तमिलनाडु: ओमीक्रोन रोगियों के लिए अलग से 150 बेड तैयार
तमिलनाडु में नए कोविड-19 वेरिएंट ओमिक्रॉन के मद्देनजर राज्य के सभी चार अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डों को पहले ही अलर्ट कर दिया है। यहां आने वाले यात्रियों का अनिवार्य रूप से आरटी-पीसीआर टेस्ट किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने मेडिकल कॉलेजों को अपने प्रत्येक अस्पताल में ओमिक्रॉन के रोगियों को भर्ती करने के लिए 150 बेड अलग करने का निर्देश दिया है। मेडिकल कॉलेजों को ओमिक्रॉन रोगियों के इलाज के लिए स्थापित किए जाने वाले विशेष वार्डों के लिए अलग प्रवेश और निकास द्वार प्रदान करने का भी निर्देश दिया है। राज्य के स्वास्थ्य सचिव डॉ जे राधाकृष्णन ने एक सर्कुलर में सभी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों को ऑक्सीजन सिलेंडर, ऑक्सीजन पॉइंट और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर के साथ तैयार रहने का निर्देश दिया है।
दिल्ली: जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजेंगे सैंपल
दिल्ली में हाई रिस्क देशों से आने वाले सभी लोगों के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट अनिवार्य है। यदि कोई भी पॉजिटिव पाया जाता है तो उसका सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजा जाएगा। इसके साथ ही व्यक्ति को अनिवार्य रूप से आइसोलेशन में रखा जाएगा। रिपोर्ट नेगेटिव आने पर 7 दिन तक होम आइसोलेशन में रहना अनिवार्य होगा।
यूपी: रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड और भीड़-भाड़ वाले इलाकों टेस्ट पर जोर
उत्तर प्रदेश में कोविड के नए वेरिएंट ओमीक्रोन के संदर्भ में लखनऊ में रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड और भीड़-भाड़ वाले इलाकों में कोविड टेस्ट किए जा रहे हैं। लखनऊ के डीएम के अनुसार प्रशासन का फोकस सैंपलिंग पर है। टेस्टिंग के लिए दो रेलवे स्टेशनों पर 12 टीमें लगाईं हैं। प्रतिदिन औसतन 1,200 टेस्ट किए जा रहे हैं। अगर कोई मास्क नहीं पहन रहा है तो इसमें दंड के प्रावधान है।
केरल: में बाहर से आने वालों का 7 दिन का होम क्वारंटीन
केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा कि राज्य सरकार ने ओमिक्रोन को देखते हुए सभी ज़रूरी कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि हम हवाई अड्डे पर RT-PCR टेस्ट कर रहे हैं। हाई रिस्क देशों से आने वाले यात्रियों का RT-PCR टेस्ट और 7 दिन का होम क्वारंटीन अनिवार्य है। उसके बाद 8वें दिन उन्हें दोबारा RT-PCR टेस्ट कराना होगा।
तेलंगाना: सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहने का नियम सख्ती से लागू
ओमिक्रॉन के नए वैरिएंट के खतरे को देखते हुए तेलंगाना में अधिकारियों ने सार्वजनिक स्थानों पर अनिवार्य रूप से मास्क पहनने के नियम को एक बार फिर से सख्ती से लागू करने का फैसला किया है। नियम का उल्लंघन करने वालों पर 1,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। राज्य विभाग ने प्रवर्तन अधिकारियों से अनुरोध किया है कि वे मास्क ना पहनने वालों पर नागरिकों पर नजर रखें। जन स्वास्थ्य निदेशक डॉ G. श्रीनिवास राव ने लोगों से मास्क पहनकर, हाथों को सैनिटाइज करके और सामाजिक दूरी बनाए रखते हुए कोविड के उचित व्यवहार का पालन करने की अपील की है।
हरियाणा: कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य
राज्य में ओमीक्रोन वेरिएंट से संक्रमण की रोकथाम के लिए अधिसूचित दिशा-निर्देश के अनुपालन में आदेश जारी किए गए हैं। आदेशों के अनुसार, सभी लोगों के लिए सोशल डिस्टेंसिंग सहित कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य कर दिया गया है। इसके अलावा, पुलिस, स्वास्थ्य, नगर निगम और बाजार समिति जैसे संबंधित विभाग भी फेस मास्क नहीं पहनने वालों पर जुर्माना लगाएंगे। आदेश में कहा गया है कि सभी संबंधित विभागों के अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं कि कोविड प्रोटोकॉल के संबंध में निर्धारित मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) का सख्ती से पालन किया जाए।
विदेश से आने वाले यात्रियों की पहचान
उत्तराखंड में सीमाओं पर कोरोना को लेकर रैंडम टेस्टिंग की जा रही है। सभी फ्रंटलाइन वर्कर और हेल्थ केयर वर्कर्स का कोरोना का टेस्ट जरूरी है। इसके अलावा मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, छत्तीसगढ़, गुजरात, बिहार समेत अन्य राज्यों में विदेश से आने वाले यात्रियों की पहचान की जा रही है। एयरपोर्ट पर कोविड गाइडलाइन्स का अधिक कड़ाई से पालन किया जा रहा है। सभी यात्रियों के लिए कोविड टेस्ट रिपोर्ट जरूरी है। यात्रियों के नेगेटिव पाए जाने पर भी 7 दिन का होम आइसोलेशन अनिवार्य किया गया है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *