जनता की सहूलियत के ल‍िए IPC and CRPC में बदलाव करेगी सरकार: अमित शाह

नई द‍िल्ली। गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि समय के अनुसार IPC and CRPC में बदलाव की जरूरत है। ये कानून तब बनाए गए थे जब अंग्रेज हम पर शासन करते थे। उनकी प्राथमिकता भारत के नागरिक नहीं थे अब जब हम आजाद हैं तो IPC and CRPC में जनता की सहूलियत के मुताबिक बदलाव की जरूरत है। गृहमंत्री अमित शाह शुक्रवार को लखनऊ के पुलिस मुख्यालय में आयोजित 47वें ऑल इंडिया पुलिस साइंस कांग्रेस के कार्यक्रम में बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि जनता का नजरिया पुलिस के लिए और पुलिस का नजरिया जनता के लिए बदलना जरूरी है। फिल्मों में तोंद वाले पुलिसकर्मी को दिखाकर उसका मजाक उड़ाया जा सकता है लेकिन यह भी समझने की जरूरत है कि पुलिसकर्मियों पर सुरक्षा की कितनी जिम्मेदारी होती है। लोग दीवाली मना रहे होते हैं पुलिसकर्मी सुरक्षा में लगे होते हैं। लोग छुट्टी लेकर घर जाते हैं, होली खेलते हैं लेकिन पुलिसकर्मी इस चिंता में रहते हैं कि कहीं कोई दंगा न हो जाए। पुलिस विभाग के 35 हजार जवानों ने अपनी शहादत दी जिसके बाद इस देश के लोग आज खुद को सुरक्षित महसूस करते हैं। इसलिए जरूरी है कि जनता और पुलिस दोनों एक दूसरे को देखने का नजरिया बदले।

गृहमंत्री ने कहा कि केंद्र में जब मोदी सरकार आई देश की अर्थव्यवस्था दुनिया में 11वें स्थान पर थी पर अब यह सातवें स्थान पर है। भारत की 130 करोड़ जनसंख्या पूरी दुनिया के लिए बड़ा मार्केट है। प्रधानमंत्री मोदी का सपना है कि 2024 तक देश की अर्थव्यवस्था पांच ट्रिलियन की बने। जिसके लिए बेहतर कानून व्यवस्था की जरूरत है जो कि बेहतर पुलिसिंग से ही मिल सकती है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार एक फॉरेंसिक विश्वविद्यालय बनाने जा रही है जिससे कि पुलिसिंग में सुधार किया जा सके। जिन राज्यों में विश्वविद्यालय नहीं बनाया जा सकता वहां कॉलेज बनाए जाएंगे। गृहमंत्री ने कहा कि यह पुलिस साइंस कांग्रेस का 47वां आयोजन है। 1960 से ऐसे आयोजन किए जा रहे हैं। मुझे लगता है कि अब तक इन आयोजनों में जितने प्रस्ताव रखे गए हैं उनमें से कितने लागू हुए इस पर भी एक आयोजन होना चाहिए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बोले, कम्युनिटी पुलिसिंग की जरूरत
इसके पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि समय के अनुसार आज कम्युनिटी पुलिसिंग बढ़ाने की जरूरत है। इसके लिए जवानों को ठीक तरह से प्रशिक्षित करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि अब साइबर अपराध पुलिस के सामने बड़ी चुनौती है। जिससे कि अपराध का दायरा इंटरनेशनल हो गया है। जिसके लिए पुलिस को तकनीकी रूप से सक्षम किया जा रहा है।

योगी ने कहा कि पुलिसकर्मियों को जनता के विश्वास पर खरा उतरने का प्रयास करना चाहिए। अपराधियों में वर्दी का खौफ दिखना चाहिए। यूपी में भाजपा की सरकार आने के बाद कानून व्यवस्था में सुधार हुआ है। कुंभ मेले का सफल आयोजन किया गया।

48 दिन के कुंभ में करीब 25 करोड़ लोग शामिल हुए। मौनी अमावस्या के दिन पांच करोड़ लोगों ने कुंभ में स्नान किया। इतनी भीड़ होने के बावजूद एक भी अप्रिय घटना नहीं हुई और कुंभ सफलतापूर्वक संपन्न हो गया। योगी ने कहा कि अयोध्या फैसला आने पर प्रदेश में कानून व्यवस्था चौकचौबंद रही। कहीं कोई हंगामा नहीं हुआ। ये सब प्रदेश की बेहतर कानून व्यवस्था को दिखाता है।

इसके पहले लखनऊ पहुंचे गृहमंत्री अमित शाह का विधि मंत्री ब्रजेश पाठक, खादी ग्रामोद्योग मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने एयरपोर्ट पर स्वागत किया।

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *