मुकद्दमों के बाद गोल्डमैन सैश ग्रुप ने क‍िया मलेशिया से समझौता

कुआलालम्पुर। गोल्डमैन सैश ग्रुप ने मलेशिया के साथ एक समझौता किया है। इस समझौते के तहत सभी प्रकार के क्रिमिनल केस और रेग्युलेटरी कार्यवाही को बंद करने के लिए गोल्डमैन सैश ग्रुप मलेशिया सरकार को 3.9 बिलियन डॉलर यानी करीब 29 हजार करोड़ रुपए का भुगतान करेगा। सॉवरेन वेल्थ फंड 1MDB के लिए फंड जुटाने में भूमिका निभाने के लिए गोल्डमैन सैश ग्रुप को इन केसों का सामना करना पड़ रहा है।

18 हजार करोड़ रुपए का कैश में भुगतान होगा

मलेशिया के वित्त मंत्रालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक, समझौते के तहत गोल्डमैन सैश बैंक 2.5 बिलियन डॉलर यानी करीब 18 हजार करोड़ रुपए का कैश में भुगतान करेगा। इसके अलावा गोल्डमैन सैश यह गारंटी देगा कि बकाया राशि 1MDB की दुनियाभर जब्त की गई संपत्ति से जुटाई जाएगी। इस समाधान के जरिए गोल्डमैन सेश 2008 के वित्तीय संकट के बाद की सबसे बड़ी कानूनी कार्यवाही को समाप्त करने के करीब पहुंच गया है।

ये है मामला

कोर्ट फाइलिंग के मुताबिक, गोल्डमैन सैश ने 1MDB फंड के लिए 6.5 बिलियन डॉलर करीब 48 हजार करोड़ रुपए जुटाने में मलेशिया सरकार की मदद की थी। गोल्डमैन सैश ने 2012-2013 में बॉन्ड बिक्री के जरिए 600 मिलियन डॉलर की फीस जुटाई थी। प्रॉसिक्यूटर का आरोप है कि गोल्डमैन सैश ने यह राशि 1MDB के अधिकारियों और एसोसिएट्स के पास डायवर्ट कर दी थी। मलेशिया के वित्त मंत्रालय के बयान के मुताबिक, इस समझौते का भगौड़े फाइनेंसर लाऊ टीक झो और अन्य के खिलाफ चल रहे केस पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

2018 में दायर हुआ था मुकदमा

इस मामले में मलेशिया के प्रॉसिक्यूटर ने 2018 में बैंक की तीन शाखाओं के खिलाफ मुकदमा दायर किया था। बाद में गोल्डमैन सैश के 17 मौजूदा और पूर्व अधिकारियों को भी इस मामले में आरोपी बनाया गया था। हालांकि, बैंक ने सभी आरोपों को गलत बताया था। अब ताजा समझौते के तहत गोल्डमैन सैश, उसकी सभी सब्सिडियरी और उसके मौजूदा-पूर्व अधिकारियों के खिलाफ सभी क्रिमिनल केस बंद हो जाएंगे।
– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *