Golden ने भारत छोड़ो आंदोलन में आगरा का योगदान याद किया

आगरा। Golden Age व लोकस्वर की संयुक्त बैठक में स्वतन्त्रता दिवस से पूर्व आज दिनाक 12/08/218 को आगरा क्लब मे एक बैठक भारत छोड़ो आंदोलन में डॉ आर एम मल्होत्रा की अध्यक्षता मे स्मरणों की चर्चा हुई। चर्चा में Golden Age के शशि शिरोमणि जी ने स्मरण बताया कि महात्मा गांधी के usr`Ro में चलते अहिंसक आंदोलन शिथिल पढ़ने लगा था। लोगों मे बेचैनी बढ़ती जा रही थी।

आगरा क्रांतकारियों का बड़ा केंद्र बन चुका था। अपनी भौगोलिक स्थिति मे रहते यहाँ चारों ओर से क्रांतिकारी एवं अन्य नेता गण सलाह मशविरा करने आते थे। एक बहुत बड़ा शिक्षा का गण होने के नाते यहाँ के कोलिजों मे युवक देश की आज़ादी के लिये कर गुजरने को तड़प रहें थे। यह सारी जानकारीयां अंग्रेज़ शासकों को थी यही कारण था कि 1942 के अगस्त माह के शुरू में ही शहर व जिले के समस्त कांग्रेसी नेता पं. श्रीक्रष्ण दत्त पालिवाल, जगन प्रसाद रावत,शिरोमणि बन्धु,बल्लाजी आदि गिरफ्तार कर लिये गये थे। योजना के अन्तर्गत श्री बाबूलाल मित्तल भुमिगत हो गये।

अगली कड़ी में Golden Age के निहाल सिंह जैन ने बताया कि 4 अगस्त 1942 को जैसे ही बम्बई के ग्वालिया टेके से क्रांति की चिंगारी फैली हमारा शहर निर्जीव नज़र आ रहा था। मीतल साहब को बाहर निकलने का जैसे ही संदेश दिया गया था वे तुरंत व्रंदावन से यहाँ पहुँच गये।

पूर्व विधायक सतीश चंद्र गुप्ता जी ने भावुक होते हुए बताया कि 10 अगस्त को अपराहन “फुलट्टी” से विशाल जुलूस निकाला गया जिसमे सबसे आगे झण्डा लेकर चल रहे थे ‘हर नारायण’ जगह जगह ‘यूथ लीग’ के नोजवान व्यवस्था एवं मार्ग दर्शन हेतु खड़े हुए थे। भगवती प्रसाद आज़ाद पीपल मंडी,सोहन लाल गुप्ता गुदड़ी, डॉ. सुरजमान जैन पथवारी और ना जाने कितने लोग हाथ मे तिरंगे लिये खड़े थे।

डॉ. पी. के.सिन्हा ने कहा छिपिटोला का एक अत्था डॉ. सी. लदिमत के usr`Ro में आ पहुँचा । जमुना किनारे तैराकी मेले की भारी भीड़ थी। तभी किसी शरारती तत्व ने एक पत्थर उछाल दिया जो वर्दी धारी दरोगा के जा लगा इतने से ही पुलिस के बिना किसी चेतावनी के गोली चलाना शुरू कर दिया। एक गोली छिपिटोला के युवक ‘पुरुषराम’ के सीने मे जा लगी वे शहीद हो गया। नेमीचन्द नायक, मोहनिया जी तथा कितने ही लोग घायल हुए । पुलिस ने लाठी चार्ज कर भीड को तितर-बितर करने मे कड़ी मशक्कत की ।

सत्यनारायण सिंघानिया जी ने बैठक में कहा स्वतंत्र नागरिक होने पर हमे बड़ा ही गर्व है और युवाओं के बलिदानो के बिना ये स्वतन्त्रता अधूरी थी।

लोकस्वर के संस्थापक श्री राजीव गुप्ता ने कहा कि आज भी देश कि स्वतन्त्रता मे नवयुवको के योगदान की तरह हमारे युवाओं को भी योगदान देना पड़ेगा , भ्रष्टाचार ,पर्यावरण व सिविक्स से लड़ना पड़ेगा । जो आज देश की तरक्की में बहुत बड़ी बांधा हैं ।

मीटिंग का संचालन श्री राजीव गुप्ता ने किया,धन्यवाद अमिताभ जी ने दिया ओर मीटिंग कि वयवस्था ललित प्रसाद जी ने की । मीटिंग में डॉ आर. एम. मल्होत्रा जी, श्री निहाल सिंह जैन,ललित प्रसाद जी,श्रीमति शकुंतला जैन, मीरा जी, श्रीमति आकांशा गुप्ता , श्रीमति अंजु जैन, किशोर टेकचंदानी,दीपेन्द्र मोहन सी.ए.,गौरव लूथरा, आर. एस. मित्तल, हर प्रसाद बंसल, पूर्व विधायक सतीश चंद्र गुप्ता आदि उपस्थित रहे।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *