Golden Age व लोक स्वर ने आयोज‍ित की चाय पे चर्चा

आगरा। कल चाय द‍िवस पर आगरा की संस्था Golden Age व लोक स्वर ने चाय पे चर्चा कार्यक्रम आयोज‍ित क‍िया।

संस्था के पदाध‍िकार‍ियों ने एकस्वर से कहा क‍ि आज भी प्रत्येक रेलवे स्टेशन पर ट्रेन के रुकते ही सुनाई पड़ जाती है चाय चाय गरमागरम चाय की आवाज जो इस बात का द्योतक है क‍ि चाय एक ऐसा पेय है जो आम आदमी के पहुँच में है और जनसाधारण का कोई वर्ग इससे अछूता नहीं है ।

चाय दिवस के शुभ अवसर पर गोल्डन ऐज व लोक स्वर के तत्ववधान में हाइ टी पर विचार विमर्श बड़ी गंभीरता से हुआ है। आर .एस .मित्तल का मत तो इसे प्रेम सौहार्द और आपसी मेलजोल का पर्याय बताता है , तो कुछ यह भी कहते सुने गए कि चाय बिना सब सूना है।

Golden Age and Lok Swar organized a discussion program on tea
Golden Age and Lok Swar organized a discussion program on tea

श्रीमती शकुन्तला जैन ने क़हा कि भारत वर्ष में गोरों ने चाय पिलाने की शुरुआत की थी और प्रारम्भ में फ्री में चौराहों पर यह मिला कराती थी। धीरे धीरे यह जीवनचर्या का अंग बन गयी।

श्रीमती मीरा अमिताभ ने कहा मूल रूप से ब्रेड नाश्ते के बाद और न जाने कितने प्रकार से परिवारों में घुस गयी है। होती बहुत ही गुणकारी है, चाय नींद खोलती है थक जाओ तो ऊर्जा देती है, किसी से मिलने जाओ तो चाय सत्कार का रूप हो जाती है, आपसी मतभेदों पर साथ बैठकर चाय पर सभी समस्याओं के समाधान में सहायक होती है।

अधिकरी श्री अमिताभ ने बताया सरकारी कार्यालयों में तो चाय की फैक्ट्री सी चलती है दिनभर अधिकारी व कर्मचारी चाय पीकर व पिलाकर सौहार्द व आतिथ्य का प्रदर्शन करते हैं।

सत्य नरायन सिंघानिया बोले क‍ि समाज इतना जागरूक है कि यदि किसी से मिलने जाये और शुष्क स्वागत हो तो लोग बुरा मानते हैं और कहते हैं कि चाय भी नहीं पिलायी बड़ा कंजूस है।

राजीव गुप्ता ने चर्चा को जारी रखते हुए बतया कि चाय अनेक प्रकार की होती है- रेडीमेड पॉट टी, ग्रीन टी और ट्रक वालों की 50 किमी वाली कड़क चाय तथा डिपडिप वाली अनेक फ्लेवर वाली चाय।

उल्लेखनीय है कि भारतवर्ष व श्रीलंका दुनिया की सबसे अच्छी चाय के उत्पादक है। जहाँ हजारों रुपये प्रति किलो कि चाय का उत्पादन भी होता है, चाय बागान हजारों कि संख्या में लोगों को रोजगार देते हैं।

बैठक डॉ० आर.एम. मल्होत्रा कि अध्यक्ष्ता में हुई तथा लोक स्वर के अध्यक्ष राजीव गुप्ता के संचालन में हुई और सभी उपस्थित सदस्यों ने अपने अपने अनुभव व विचार रखे ।

प्रो० निहाल सिंह जैन ने सभी का विशेषकर एसपी बंसल का बैठक आयोजित करने के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया । मीटिंग में डॉ आर॰ एम॰ मल्होत्रा, प्रो० निहाल सिंह जैन, ललित प्रसाद, श्रीमति रानी सरोज़ गोरिहर,राम सरन मित्तल,सकुन्तला जैन,आमिताभ सिंह, के॰ सी॰ गुप्ता, समता गुप्ता, पूर्व विधायक सतीश चंद गुप्ता ,आर्कीटेक्ट सतीश शिरोमणि सत्य नरायन सिंघानिया जे॰ फ़ोजदार शांति स्वरूप गोयल आद‍ि लोग उपस्थित थे।

लोक स्वर की तरफ से संस्थापक अध्यक्ष राजीव गुप्ता, नवीन गोयल, गौरव लूथर, अंजू अग्रवाल, साक्षी जैन, संध्या शर्मा, किशोर कर्म, चांदनी, दीपेंद्र मोहन आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *