गुलाम नबी का विवादास्‍पद बयान, डोभाल ने ‘पैसे देकर लोगों को साथ लिया’

नई दिल्‍ली। धारा 370 हटाने के बाद जम्मू-कश्मीर में तनाव की स्थिति को कम करने के लिए तमाम तरह की कोशिशें की जा रही हैं।
राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने बुधवार को शोपियां में आम लोगों से मुलाकात की।
इस मामले पर कांग्रेस के सीनियर लीडर गुलाम नबी आजाद ने बेहद विवादास्पद बयान दिया है। इस बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में आजाद ने ‘पैसे देकर लोगों को साथ लेने’ का आरोप लगाया। वहीं बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन ने इस बयान के लिए आजाद से माफी की मांग की है।
जब गुलाम नबी आजाद से पूछा गया कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार कश्मीर में आम लोगों से मिल रहे हैं, इस पर आजाद ने कहा, ‘पैसे देकर आप किसी को भी साथ ले सकते हैं।’ आजाद ने कहा कि कश्मीर के लोगों पर कर्फ्यू लगाकर कानून बनाया गया है, भारत के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है।
वहीं गुलाम नबी आजाद के बयान पर बीजेपी ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। भारतीय जनता पार्टी के नेता शहनवाज हुसैन ने कहा कि गुलाम नबी आजाद को इस बयान के लिए देश के लोगों से माफी मांगनी चाहिए। हुसैन ने कहा कि ऐसे बयानों को ही भारत के खिलाफ इस्तेमाल करता है पाकिस्तान। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कुछ नेता पाकिस्तान की भाषा बोल रहे हैं।
बता दें कि बुधवार को डोभाल ने कश्मीर के शोपियां में आम लोगों से मुलाकात की थी। वह कुछ जगह आम लोगों के साथ खाना खाते हुए भी नजर आए थे। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार धारा 370 हटाने के बाद से ही कश्मीर में हैं। उन्होंने जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ के जवानों से भी मुलाकात की।
श्रीनगर जा सकते हैं आजाद
पूरे विवाद के बीच गुलाम नबी आजाद आज श्रीनगर जा सकते हैं। खबर है कि वह इस मामले पर पार्टी के कार्यकर्ताओं से मीटिंग भी कर सकते हैं। हालांकि कांग्रेस कई नेताओं ने इस मामले पर पार्टी से अलग स्टैंड लिया है। इन नेताओं का कहना है कि धारा 370 हटाने का फैसला सही है।
कुछ जगह खुले बाजार
आशंका जाहिर की गई थी कि राज्य में स्थिति और बिगड़ सकती है। अलगाववादी लोगों को भड़का सकते हैं। हालांकि सूबे में स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। गुरुवार सुबह यहां दुकानें भी खुलीं। बाजार गुलजार दिखे। जम्मू में लोग फल, सब्जियों सहित जरूरी सामान खरीदते दिखे। उधर, पीएम नरेंद्र मोदी 370 के मुद्दे पर आज देश को संबोधित कर सकते हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *