गाजियाबाद केस: मुख्य आरोपी और सपा नेता उम्‍मेद पहलवान गिरफ्तार

गाजियाबाद। गाजियाबाद लोनी में बुजुर्ग से मारपीट और दाढ़ी काटने के मामले में मुख्य आरोपी और समाजवादी पार्टी नेता उम्‍मेद पहलवान को गाजियाबाद क्राइम ब्रांच ने दिल्ली में दबोचा लिया है। अब दिल्ली पुलिस से कोऑर्डिनेशन करके उसे गाजियाबाद लाया जाएगा। अब इस मामले में सभी 11 आरोपी अरेस्‍ट किए जा चुके हैं।
गाजियाबाद के एसएसपी अमित पाठक ने बताया कि बुजुर्ग से मारपीट मामले में क्राइम ब्रांच और गाजियाबाद पुलिस ने अपने जॉइंट आपरेशन में एसपी नेता उम्‍मेद पहलवान को अरेस्‍ट कर लिया। उम्‍मेद को दिल्‍ली के एलएनजेपी अस्‍पताल के पास से अरेस्‍ट किया गया। उसके साथ गुलशन नाम का एक और आरोपी पकड़ा गया है। पुलिस का कहना है कि उम्‍मेद ने एफआईआर के बाद फेसबुक लाइव करके पूरी घटना को अलग रूप दिया था।
5 जून को हुई थी घटना
बुलंदशहर के अनूपशहर में रहने वाले अब्दुल समद सैफी (72 साल) 5 जून को गाजियाबाद के लोनी अपने रिश्तेदार से मिलने गए थे। उनका आरोप है कि उन्होंने ऑटो लिया था, जिसमें चार युवक पहले से सवार थे। बाद में इन युवकों ने उनके साथ मारपीट और बदसलूकी की।
पुलिस का कहना कुछ और
वहीं पुलिस की जांच में यह पता चला था कि मारपीट करने वाले बुजुर्ग के परिचित थे। बुजुर्ग ने उन्‍हें ताबीज दिया था लेकिन उसके बाद से उनके घर में कुछ बुरी घटनाएं होने लगीं। इससे नाराज होकर उन्‍होने बुजुर्ग की पिटाई की थी। हालांकि, बुजुर्ग और उनके परिवार ने ताबीज बनाने की बात से इंकार किया था।
सबसे पहले उम्‍मेद ने किया फेसबुक लाइव
उम्मेद ने ही सबसे पहले अब्दुल समद के मामले को सांप्रदायिक रंग देते हुए फेसबुक लाइव किया था। इसके बाद यह मामला दूसरे सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म पर वायरल हो गया था। पुलिस फेसबुक से उन लोगों की जानकारी मांग रही है जिन्‍होंने इससे जुड़ी विवादित पोस्‍ट शेयर की थीं।
मारपीट के मुख्य आरोपी प्रवेश को मिली जमानत
5 जून को अब्दुल समद के साथ मारपीट के मुख्य आरोपी प्रवेश गुर्जर को जमानत मिल गई। पुलिस के अनुसार रंगदारी मांगने के मामले के कारण अभी जेल में रहेगा। एसपी देहात ने बताया कि उसे मारपीट मामले में जमानत मिली है। पुलिस उसे पीसीआर पर लेगी। इसके लिए तैयारी की गई है। प्रवेश की गिरफ्तारी इंतजार से रंगदारी मांगने में हुई थी। इसके बाद बुजुर्ग से मारपीट का वीडियो सामने आने के बाद उसका नाम इसमें आया और मारपीट की बात सामने आई।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *