अफरीदी के बयान पर Gautam गंभीर ने की तल्‍ख टिप्‍पणी

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी के एलओसी दौरा करने के बयान पर क्रिकेटर से सांसद बने Gautam गंभीर ने बहुत तल्ख टिप्पणी की है।
गंभीर ने अफरीदी की समझ पर सवाल उठाते हुए कहा कि कुछ लोगों की सोच-समझ उम्र के साथ नहीं बढ़ती है। गंभीर और अफरीदी के बीच तल्खी का पुराना इतिहास रहा है और दोनों के बीच मैदान पर भी तीखी तकरार हो चुकी है।
अफरीदी के बयान पर गंभीर का सख्त पलटवार
पूर्वी दिल्ली से बीजेपी सांसद Gautam गंभीर ने अफरीदी को सलाह दी कि उन्हें राजनीति में शामिल होना चाहिए।
गौतम ने कहा, ‘मुझे लगता है कि उनके बारे में (शाहिद अफरीदी) ज्यादा कुछ कहने की जरूरत नहीं है। कुछ लोग ऐसे होते हैं जो कभी बड़े नहीं होते। क्रिकेट खेलने के वक्त उनकी जितनी उम्र होती है, वही उनकी बाद में भी रहती है। उनका दिमाग वक्त के साथ विकसित नहीं होता।’
गंभीर ने यह भी कहा कि अगर अफरीदी को राजनीति का इतना शौक है और हर मुद्दे पर राजनीति करनी है तो उन्हें पॉलिटिक्स ही जॉइन कर लेना चाहिए।
अफरीदी ने कहा था, गौतम गंभीर दोस्त नहीं हो सकते
ऐसा नहीं है कि ऐसी तल्खी Gautam गंभीर के साथ ही रही हो। शाहिद अफरीदी ने अपनी आत्मकथा गेम चेंजर में गौतम गंभीर के व्यवहार पर सवाल उठाया था।
उन्होंने कहा था कि भारतीय टीम में कई खिलाड़ी उनके अच्छे मित्र रहे हैं, लेकिन गौतम गंभीर कभी उनके मित्र नहीं हो सकते। अफरीदी ने यह भी कहा था कि गंभीर के पास कोई बड़ा रेकॉर्ड नहीं है, लेकिन उनमें बहुत अधिक ऐटिट्यूड है।
2007 में एशिया कप में शुरू हुई थी तकरार
शाहिद अफरीदी और गौतम गंभीर के बीच दुश्मनी 2007 में एशिया कप में शुरू हुई थी। कानपुर में हुए एक मैच में अफरीदी और गंभीर पर मैदान में ही काफी बहस हुई थी। इसी घटना का जिक्र करते हुए शाहिद अफरीदी ने कहा था कि गौतम गंभीर से मेरी लड़ाई प्रोफेशनल नहीं, बल्कि निजी स्तर पर है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *