पाकिस्तान में बच्चों के सामने विदेशी महिला के साथ गैंग रेप, जबरदस्त विरोध प्रदर्शन

लाहौर। पाकिस्तान में बच्चों के सामने विदेशी महिला के साथ सामूहिक बलात्कार की घटना के बाद जबरदस्त विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। इस मामले की जांच कर रहे अधिकारी ने पीड़ित महिला को ही इसके लिए जिम्मेदार बता दिया। जिसके बाद से लोगों का गुस्सा और भड़क गया। बताया जा रहा है कि इस मामले में पुलिस ने अब तक 15 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। लाहौर समेत पाकिस्तान के अधिकतर शहरों में बड़ी संख्या में महिलाएं इस घटना के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रही हैं।
कार खराब होने के दौरान हुई घटना
यह घटना पाकिस्तान के लाहौर के पास की बताई जा रही है। पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट के अनुसार फ्रांस की रहने वाली एक महिला गुरुवार सुबह अपने दो बच्चों के साथ लाहौर से गुजरांवाला की तरफ जा रही थी। इस दौरान उसकी कार अचानक बंद पड़ गई। अंधेरी रात में महिला ने कार में बैठकर मदद आने तक इंतजार करने का फैसला किया।
बच्चों के सामने किया गैंगरेप
महिला ने अपनी रिपोर्ट में पुलिस को बताया कि इस दौरान कुछ लोग आए और उन्होंने कार की खिड़की को तोड़कर उसे बाहर खींच लिया। इसके बाद इन लोगों ने पास के एक खेत में पीड़िता के बच्चों के सामने ही गैंगरेप किया। हमलावर अपने साथ पीड़िता के गहने, नकदी और तीन एटीएम कार्ड भी लेकर चले गए।
गिरफ्तार लोगों में से कोई भी मामले से संबंधित नहीं
पुलिस ने इस मामले में 15 लोगों को गिरफ्तार किया है। हालांकि, न्यूज़ एजेंसी एपी ने एक पुलिस अधिकारी के हवाले से बताया है कि पकड़े गए 15 लोगों में से कोई भी उस घटना से संबंधित नहीं है। इस मामले के प्रमुख जांचकर्ता लाहौर पुलिस प्रमुख उमर शेख के गैरजिम्मेदाराना बयान के बाद पाकिस्तानियों का गुस्सा भड़क गया और कई शहरों में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए।
जांचकर्ता पुलिस प्रमुख ने पीड़िता को बताया जिम्मेदार
लाहौर पुलिस प्रमुख उमर शेख ने इस घटना के लिए पीड़ित महिला को ही जिम्मेदार बता दिया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी समाज में कोई भी अपनी बहन और बेटी को इतनी रात को अकेले यात्रा करने की अनुमति नहीं देगा। उन्हें सुरक्षित रोड का प्रयोग करना चाहिए था और गाड़ी में पर्याप्त पेट्रोल भी भरवाना चाहिए था। उन्होंने यह भी कहा कि महिला चूंकि फ्रांस की निवासी है इसलिए उसने पाकिस्तान को सुरक्षित समझ लिया।
पाकिस्तान में भड़के लोग
उनके इस बयान के बाद पाकिस्तान में विरोध शुरू हो गए। सरकार और विपक्ष से जुड़े कई नेताओं ने पुलिस प्रमुख के बयान की सार्वजनिक निंदा की है। पाकिस्तान के मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी ने उनकी टिप्पणी को अस्वीकार्य कहा। उन्होंने कहा कि कभी भी बलात्कार की घटना को तर्कसंगत नहीं ठहराया जा सकता है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *