गडकरी ने दिए संकेत, जल्द शुरू किया जा सकता है सार्वजनिक परिवहन

नई दिल्‍ली। कोरोना महामारी के बीच केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने इस बात के संकेत दिए हैं कि सार्वजनिक परिवहन को जल्द शुरू किया जा सकता है। गडकरी ने ट्रांसपोर्टरों को आश्वासन देते हुए कहा कि 24 मार्च को पहली बार लॉकडाउन की घोषणा के बाद से बंद पड़े पब्लिक ट्रांसपोर्ट को जल्द शुरु किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि जनता के बीच विश्वास पैदा करने के लिए परिवहन एवं राजमार्गों को खोलने के लिए एक लंबा रास्ता तय करना पड़ा। इसके साथ ही गडकरी ने कहा कि कुछ गाइडलाइंस के साथ जल्द सार्वजनिक परिवहन की शुरुआत हो जाएगी। नितिन गडकरी बस एंड कार ऑपरेटर्स ऑफ इंडिया के सदस्यों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित कर रहे थे। हालांकि उन्होंने बस और कार चलाते वक्त हाथ धोने, सैनिटिजिंग, फेस मास्क जैसी सुरक्षा उपायों को लेकर आगाह किया।
बस और कार ऑपरेटर्स कंफेडरेशन ऑफ इंडिया के सदस्यों द्वारा उठाई गई चिंताओं का जवाब देते हुए उन्होंने बताया कि उनका मंत्रालय सार्वजनिक परिवहन के लंदन मॉडल को अपनाना चाहता है, जहां सरकारी धन कम से कम है और निजी निवेश को बढ़ावा दिया जाता है। उन्होंने भारतीय बस और ट्रक निकायों के खराब मानकों की ओर भी इशारा किया। गडकरी ने उनकी अच्छी प्रथाओं को अपनाने पर जोर दिया, जो लंबे समय में स्वदेशी उद्योग के लिए आर्थिक रूप से स्वीकार होगा।
बता दें कि कोरोना वायरस महामारी के खतरे को देखते हुए लॉकडाउन को 17 मई तक बढ़ा दिया गया है। इस दौरान रेलवे और हवाई सेवा भी बंद है। फंसे हुए प्रवासी मजदूरों को निकालने के लिए रेलवे ने करीब 100 से ज्यादा श्रमित स्पेशल ट्रेनें चलाई हैं।
बता दें कि देश में कोरोनावायरस के मामले तेजी से सामने आ रहे हैं। कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा बढ़कर 50,000 के करीब पहुंच गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बुधवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में कोरोना वायरस से अब तक 1,694 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि संक्रमितों की संख्या 49,391 हो गई है। वहीं, पिछले 24 घंटों में कोरोना के 2,958 नए मामले सामने आए हैं और 126 लोग इसकी वजह से जान गंवा चुके हैं। इस बीमारी से अब तक 14,183 मरीज ठीक को चुके हैं। मरीजों का रिकवरी रेट सुधरकर 28.71 प्रतिशत हुआ। कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देशभर में लॉकडाउन लगाया गया, जो कि 17 मई तक लागू रहेगा।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *