कोरोना के टीकाकरण की टेस्‍टिंग के लिए चार राज्‍यों का चयन

नई दिल्‍ली। केंद्र सरकार ने कोविड-19 टीकाकरण की व्यवस्थाओं के आंकलन के लिए पंजाब, असम, आंध्र प्रदेश और गुजरात में 28-29 दिसंबर को पूर्वाभ्यास की तैयारी की है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को बताया कि इस अभ्यास के तहत टीके की आपूर्ति, जांच रसीद और आवंटन से संबंधित ऑनलाइन मंच कोविन (Covin) में आवश्यक डेटा डालना, दल के सदस्यों की तैनाती, टीका स्थलों पर जांच लाभार्थियों के साथ छद्म अभ्यास, रिपोर्टिंग और शाम को बैठक आदि होंगे।
रिहर्सल के दौरान इन सबकी होगी पड़ताल
मंत्रालय ने बताया कि इसके तहत कोविड-19 टीके के प्रशीतन भंडारों (Refrigeration stores), उसके ढुलाई का इंतजाम (Transportation arrangements), टीका स्थल पर भीड़ का प्रबंधन (Crowd management), एक दूसरे के बीच दूरी बनाने की व्यवस्था (Social Distancing System) आदि को भी परखा जाएगा।
ऐसे दिया जाएगा ड्राइ रन को अंजाम
मंत्रालय का कहना है कि हर राज्य के दो जिलों में, खासकर पांच अलग-अलग टीका केंद्रों- जैसे जिला अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र या प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, शहरी केंद्र, निजी अस्पताल, ग्रामीण पहुंच केंद्र के लिए यह पूर्वाभ्यास संबंधी योजना बनाएगा। पंजाब के लुधियाना और शहीद भगत सिंह नगर को कोविड वैक्सीनेशन के ड्राइ रन के लिए चुना गया है। लुधियाना के डिप्टी कमिश्नर वी. शर्मा ने बताया कि यहां टीकाकरण के लिए 805 सर्विस लोकेशन तय किए गए हैं।
कोविड वैक्सीनेशन का ड्राइ रन क्यों
मंत्रालय ने कहा, ‘इस अभ्यास से कोविड-19 टीके को जुटाने और टीकाकरण की जांच प्रक्रिया, क्षेत्र में कोविन के उपयोग, नियोजन, क्रियान्वयन, रिपोर्टिंग के बीच तालमेल, चुनौतियों की पहचान, वास्तविक क्रियान्वयन के बारे मे मार्गदर्शन, यदि किसी सुधार की जरीरत हो तो उसे चिह्नित करना आदि का पता चलेगा। ’
मंत्रालय ने इस संबंध में एक जांच सूची तैयार की है जिसे अभ्यास के दौरान मार्गदर्शन के लिए चारों राज्यों के साथ साझा किया गया है।
टीकाकरण की सारी तैयारी पूरी
अब तक राज्य स्तर पर सभी राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों में प्रशिक्षण पूरा किया जा चुका है और जिला स्तर पर 7,000 से अधिक प्रशिक्षु (Trainee) शामिल हुए थे। लक्षद्वीप अपवाद है। कोविड-19 टीकाकरण और कोविन के बारे में किसी जिज्ञासा, शिकायत आदि के समाधान के लिए राष्ट्रीय एवं राज्य स्तर पर हेल्पलाइन क्षमता भी मजबूत की गई है। राष्ट्रीय कोविड-19 टीकाकरण विशेषज्ञ दल प्रशासन ने स्वास्थ्यकर्मियों (करीब एक करोड़), अग्रिम कर्मियों (करीब दो करोड़) और अन्य प्राथमिक उम्र समूह (27 करोड़ लोगों) के लिए कोविड-19 टीकाकरण की सिफारिश की है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, भारत में कोरोना वायरस के सक्रिय मामले अब 2.81 लाख हैं जो कुल मामलों के 2.78% हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *