पहली बार स्वामी लीलाशाह सिंधी धर्मशाला पर हुआ ध्वजारोहण

मथुरा। भारतीय सिंधु सभा द्वारा मथुरा में पहलीबार बहादुर पुरा स्थित स्वामी लीलाशाह सिंधी धर्मशाला पर स्वतंत्रता दिवस मनाया गया और देश के लिए कुर्बान होने वाले सिंधी शहीद हेमू कालाणी सहित सभी देशभक्तों को याद किया गया।

मुख्य अतिथि सिंधी जनरल पंचायत के अध्यक्ष नारायणदास लखवानी ने ध्वजारोहण के उपरांत कहा कि 75 वर्षों में देश में बहुत बदलाव हुआ है, काफी तरक्की हुई है, जिसमें सिंधी समाज का योगदान भी उल्लेखनीय है। सिंधीजन सदा देश के प्रति समर्पित रहे हैं। देश कई कामयाब हस्तियों में सिंधीजनों का नाम भी है।

भारतीय सिंधु सभा के जिलाध्यक्ष रामचंद्र खत्री ने कहा कि आजादी के लिए जहां हजारों देशभक्तों ने अपना बलिदान दिया, वहीं सिंधी समाज ने भी अपनी जन्मभूमि को खोकर भारी कीमत चुकाई और भारत के विभिन्न हिस्सों में भटकते हुए भी भारत की तरक्की के लिए आगे रहे, तभी तो आज हर क्षेत्र में सिंधीजनों की धूम है।

इस मौके पर सिंधी जनरल पंचायत के अध्यक्ष नारायणदास लखवानी, महामंत्री बसंत मंगलानी, मंत्री गुरूमुखदास गंगवानी, गोपाल भाटिया, भारतीय सिंधु सभा महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश उपाध्यक्ष गीता नाथानी, प्रदेश सचिव अनिता चावला एडवोकेट, भारतीय सिंधु सभा के जिलाध्यक्ष रामचंद्र खत्री, महामंत्री किशोर इसरानी, उपाध्यक्ष जीवतराम चंदानी, प्रदीप उकरानी, सचिव रमेश नाथानी, महेश घावरी, संगठन मंत्री झामनदास नाथानी, मीडिया प्रभारी दिनेश टेकवानी, इंद्रा. गंगवानी, लीलाराम लखवानी, सुंदरलाल खत्री, हरीश चावला आदि ने राष्ट्रगान व राष्ट्रगीत गाकर तिरंगे को सलामी दी।

  • Legend News
50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *